aapkikhabar aapkikhabar

चार साल के गुंडे से परेशान योगी की पुलिस



चार साल के गुंडे से परेशान योगी की पुलिस

मासूम जिससे डर गई पुलिस

 

बाराबंकी  - यह उत्तर प्रदेश की पुलिस है यहाँ कहीं कहीं वर्दी का रंग बदला जा रहा है लेकिन वर्दी के कलर से ज्यादा प्रदेश के पुलिस का कल्चर बदले जाने की जरुरत है | इनकी मानसिकता ऐसी हो गई है की कब किसे अपराधी बना दे और किसकी जिंदगी बर्बाद कर दें यह कोई पता नहीं | अब नया कारनामा बाराबंकी की पुलिस ने किया है जिसमे इसने एक चार साल के मासूम को अपराधी बना दिया है | बेगुनाहों को फर्जी आरोप में फंसाकर गुनहगार बनाने में उत्तर प्रदेश पुलिस को महारथ हासिल है लेकिन पैसे के लालच और दबाव में आकर बाराबंकी पुलिस कुछ ऐसी नासमझी कर जाएगी इसकी उससे उम्मीद नहीं थी लेकिन चंद रुपयों की लालच में बाराबंकी की मोहम्मदपुर खाला थाने की पुलिस ने ऐसा कारनामा कर दिखाया है ।

 

गुंडों और अपराधियों पर मेहरबान नज़र आने वाली बाराबंकी जिले के मोहम्मदपुर खाला थाने की पुलिस ने सूरतगंज कस्बे के निवासी एक नर्सरी के छात्र 4 साल के मासूम बालक मोहम्मद आलम को पर गुंडा एक्ट की कार्रवाई करते हुए उसे गुंडा बना दिया है , यही नहीं पुलिस ने बच्चे मोहम्मद आलम से ही हस्ताक्षर कराकर गुंडा एक्ट की नोटिस भी तामील करा ली और कार्यवाही करते हुए गुंडा एक्ट की रिपोर्ट भी एसडीएम रामनगर को भेज दी ।

 

 चार साल का बालक मोहम्मद आलम सूरतगंज कस्बे में ही निजी स्कूल में नर्सरी का छात्र है मासूम बालक के पिता शेर मोहम्मद की माने तो उसका झगड़ा संपत्ति के बंटवारे को लेकर करीब डेढ़ वर्ष पूर्व अपने भाई ईलियास से हो गया था जिसके चलते इन दोनों पक्षों में मारपीट भी हुई थी इस मामले में दोनों पक्षों को शांतिभंग की कार्यवाही करते हुए पाबंद भी किया गया था ,  उसी समय उसके भाई इलियास ने शेर मोहम्मद को धमकी दी थी कि वह शेर मोहम्मद के पूरे घर को हवालात की हवा खिला देगा यहां तक कि उसके बच्चे को भी जेल तक पहुंचा देगा इस घटना के कुछ दिनों के बाद शेर मोहम्मद के घर में शादी होने की वजह से उसने इस तरफ कोई ध्यान नहीं दिया लेकिन जब शेर मोहम्मद के घर शेर मोहम्मद और उसके 4 साल के पुत्र मोहम्मद आलम की नोटिस आई तो उनको सारी बातों की जानकारी हुई ।

घटना को डेढ़ महीने गुज़र जाने के बाद पेशी की तारीख आने पर पीड़ित पिता शेर मोहम्मद में SDM रामनगर को प्रार्थना पत्र देकर दोषी पुलिसकर्मियों पर कार्रवाई की मांग की थी इसी आधार पर इन सभी लोगों पर गुंडा एक्ट लगा था , SDM रामनगर में इस पूरे प्रकरण को गंभीरता से संज्ञान में लिया और इस पूरे प्रकरण की जांच के बाद मोहम्मदपुर खाला थाना पुलिस को कड़ी फटकार लगाते हुए 4 साल के बच्चे मोहम्मद आलम के ऊपर लगे गुंडा एक्ट के कार्रवाई को निरस्त करने के आदेश से फतेहपुर को दिए हैं ।

 

 एसडीएम रामनगर के द्वारा छात्र मोहम्मद आलम पर गुंडा एक्ट की कार्यवाही के निरस्त करने के आदेश जारी होने के बाद अब पीड़ित परिवार ने राहत की सांस ली है लेकिन सवाल यह उठता है कि आखिर कब तक पैसे और दबाव के लालच में यूपी पुलिस फर्जी मामले में बेगुनाहों को फंसा कर अपनी पीठ थपथपाती रहेगी अगर ऐसा होता रहा तो वह दिन दूर नहीं जब गुंडे माफिया और अपराधी सड़कों पर खुलेआम घूमेंगे और शरीफ और  ईमानदार नागरिक जेल की सलाखों के पीछे नजर आएंगे ।

 

क्यों नहीं हुआ पुलिस के खिलाफ मुकदमा 

पुलिस द्वारा मासूम को फर्जी रूप से फंसाए जाने पर राहत तो मिल गई है लेकिन जिस पुलिस वालों ने फर्जी काम किया उनपर कोई मुकदमा क्यों नहीं कायम किया गे यह भी अपने आप में बड़ा सवाल है | कानूनन पुलिस द्वारा फर्जी कारवाई करते हुए जो काम किया है उसमे धारा 166 आईपीसी के तहत कार्रवाई की जानी चाहिए थी जो की अभी तक नहीं की गई है | 

-

Loading...

टिप्पणी करें

Your comment will be visible after approval

सम्बंधित खबरें



खबरें स्लाइड्स में


खबरें ज़रा हट के


Latest news with Aapkikhabar

"आज के ताज़े समाचार' के साथ आपकी ख़बर

भारत के सबसे लोकप्रिय समाचार के स्रोत में आपका स्वागत है ताजा समाचार और रोज के ताजा घटनाक्रम के लिए दैनिक समाचार को पढने के लिए हमारी वेबसाइट सही और प्रमाणिक समाचारों को खोजने के लिए सबसे अच्छी जगह है। हम अपने पाठकों को पूरे देश और उसके मुख्य क्षेत्रों में नवीनतम समाचारों के साथ प्रदान करते हैं। हमारा मुख्य लक्ष्य खबरों को एक उद्देश्य के साथ मूल्यांकन भी देना है और इस तरह के क्षेत्रों में राजनीति, अर्थव्यवस्था, अपराध, व्यवसाय, स्वास्थ्य, खेल, धर्म और संस्कृति के रूप में क्या हो रहा है, इस पर भी प्रकाश डालना है। हम सूचना की खोज करते हैं और सबसे महत्वपूर्ण ग्लोबल घटनाओं से संबंधित सामग्री को तुरंत प्रकाशित करते हैं।.

Trusted Source for News

ब्रेकिंग न्यूज़ के लिए सबसे विश्वसनीय स्रोत है आपकी खबर

आपकी खबर उन लोगों के लिए एक बेहतरीन माध्यम है जिनके कई मुद्दों पर अपनी अलग राय है हम अपने पाठकों को भी एक माध्यम उपलब्ध कराते हैं जो ख़बरों का विश्लेषण कर सकें निर्भीक रूप से पत्रकारिता कर सकें | आपकी खबर का प्रयास रहता है की ख़बरों के तह तक जाएँ पुरी सच्चाई पता करें और रीडर को वह सब कुछ जानकारी दें जो अमूमन उन्हें नहीं मिल पाती है | यह प्रयास मात्र इस लिए है कि रीडर भी अपनी राय को पूरी जानकारी से व्यक्त कर सके |
खबर पढने वाले पाठकों की सुविधा के लिए हमने आपकी खबर में विभिन्न कैटेगरी में बात है जैसे कि विशेष , बड़ी खबर ,फोटो न्यूज़ , ख़बरें मनोरंजन,लाइफस्टाइल, क्राइम ,तकनीकी , स्थानीय ख़बरें , देश की ख़बरें उत्तर प्रदेश , दिल्ली , महाराष्ट्र ,हरियाणा ,राजस्थान , बिहार ,झारखण्ड इत्यादि |

Develop a Habit of Reading

अब अखबार नहीं डिजिटल अखबार पढ़िए “आप की खबर” के साथ

आपकी खबर सामाचार ताजा सामाचारों का एक डिजिटल माध्यम है जो जनता को सच्चाई देने में समाचारों का एक विश्वसनीय स्रोत बनने का प्रयास है। हमारे दर्शकों के पास समाचार पर टिप्पणी करने और अन्य पाठकों के साथ अपनी स्वतंत्र राय साझा करने का अंतिम अधिकार है। हमारी वेबसाइट ब्राउज़ करें और आप की खबर (आज की ताजा खबर) की जाँच करें, साथ ही आपको मिलेगा आपकी खबर के एक्सपर्ट्स की टीम खबरों की तह तक जाने का प्रयास करती है और कोशिस करती है कि सही विश्लेषण के साथ खबर को परोसा जाए जिसमे वीडियो और चित्र की भी प्रमंकिता हो । इसके लिए हमारे न्यूज़लेटर की सदस्यता लें और भारत में कुछ भी नया घटनाक्रम को घटित होने पर अपने को रखें अपडेट |