नहीं पूछे जायेंगे अभी तक कहाँ थे जैसे सवाल सरकार ने लिया 500 के नोटों पर यू टर्न

नई दिल्ली-48 घंटे बीते भी नहीं थे कि सरकार को अपना नया फैसला जो 500 के पुराने नोटों को 5000 तक ही जमा करने के कारण भारी विरोध का सामना करना पड़ा | 8 नवंबर को नोटबंदी के ऐलान के बाद केंद्र सरकार का यह पुराने नोटों के लेकर एक और यू-टर्न है. सरकार ने 48 घंटे के भीतर भीतर 'एक बार में 5000 रुपए जमा करने की सीमा' को लेकर जारी किया गया सर्कुलर वापस ले लिया है. अब 30 दिसंबर तक पुराने नियम अनुसार, 500 रुपए और 1000 रुपए के पुराने नोट, 5000 रुपए से कम या अधिक, जमा होते रहेंगे.

नहीं किये जायेंगे अब तक कहां थे' और 'अब तक जमा क्यों नहीं करवाए रुपए' जैसे सवाल

सरकार ने एक बार में एक खाते में पुराने नोटों में 5000 रुपए से अधिक की रकम की सीमा को खत्म कर दिया है. अब बैंकों में इन नोटों को जमा करवाने के लिए गए लोगों से 'अब तक कहां थे' और 'अब तक जमा क्यों करवाए रुपए' जैसे सवाल नहीं किए जाएंगे. केंद्रीय बैंक आरबीआई ने इस बाबत नोटिफिकेशन जारी करते हुए कहा है कि जिन बैंक खातों के साथ नो योर कस्टमर (KYC) उपलब्ध हैं, उनमें 5,000 रुपए से ज्यादा जमा पर कोई पाबंदी नहीं रहेगी.

माना जा रहा है कि सरकार ने इस मामले पर हो रहे भारी विरोध को देखते हुए यह कदम उठाया है |


Share this story