अगर आपके पास नहीं है आधार तो नहीं करा सकेंगे यहाँ ईलाज

नई दिल्ली -देश के सबसे बड़े अस्पतालों में से एक AIIMS में ईलाज में अड़चन आ सकती है अगर आपके पास आधार नहीं है | सरकार की कोशिश है की पूरे देश की स्वास्थ्य सेवाओं को सेवाओं को (यूएचआईडी के जरिए लिंक कर दिया जाए जिससे कोई कहीं भी देश के किसी भी कोने में अगर इलाज के लिए जाता है तो अस्पताल को मरीज के प्रकृति और उसे दिए जाने वाले ट्रीटमेंट का पूरा ब्यौरा मौजूद होगा |
इसी को ध्यान में रखते हुए आॅल इंडिया इंस्टीट्यूट आफ मेडिकल साइंस(AIIMS) में आधार कार्ड के बिना आने वाले समय में अपॉइंटमेंट नहीं होगा। एम्स को पूरी तरह से डिजिटल करने की तैयारी चल रही है। एम्स प्रशासन ने स्वास्थ्य मंत्रालय को पत्र लिखकर कहा, एम्स में इलाज के लिए रजिस्ट्रेशन के लिए यूनिक हेल्थ आईडेंटिफिकेशन (यूएचआईडी) के लिए आधार कार्ड जरूरी कर दिया जाए। अब तक मरीजों के लिए आधार कार्ड विकल्प के रूप में दिया जाता था।

एम्स प्रशासन ने आधार एक्ट 2016 का हवाला देते हुए कहा कि आधार कार्ड को अन्य सरकारी सुविधाओं के लिए भी इस्तेमाल किया जा सकेगा। इसी क्रम में यदि यूएचआईडी को आधार कार्ड से जोड़ा जाएगा तो लोगों को ज्यादा फायदा होगा। जुलाई 2015 से शुरू ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन सर्विसेज के जरिए एम्स में अब तक 40 लाख मरीजों का रजिस्ट्रेशन हो चुका है।
वैसे भी सरकार द्वारा चलाई गई एक मुहीम के तहत लाखों लोगों को आधार से जोड़ दिया गया है और उसी के आधार पर लोगों को सरकारी लाभ दिया जा रहा है |

Share this story