भावुक पीएम मोदी ने कहा चाहे उन्हें जिन्दा जला दिया जाए रुकेंगे नहीं

नई दिल्ली - 70 साल की बीमारी 17 महीने में निपटानी है ।लोग ज्वेलरी खरीदते हैं और मैंने केवल इतना किया है कि जो लोग खरीददारी करते हैं 2 लाख के ऊपर पैनकार्ड देना होगा ।इस आदत को डालनी होगी । प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी गोवा में बोलते हुए यह बातें कहीं कई बार भावुक भी हुए उन्होंने कहा कि लोग उनके ऊपर आरोपलगाते हैं लेकिन उन्हें कुर्सी का मोह नहीं है । अपने भाषण के दौरान प्रधानमंत्री कई बार भावुक हुए और कहा कि वे जो कुछ भी कर रहे हैं वे गरीब लोगों के लिए कर रहे हैं जिससे देश की सूरत बदले ।उन्होंने यह भी कहा कि वे विदेशों में घूमकर इस बात का भी समझौता कर रहे हैं कि अगर विदेश में कहीं भी भारत का धन जमा होता है तो उसकी सूचना भारत में मिलनी चाहिए । मोदी ने भावुक होकर भी अपनी मंशा साफ़ कर दी और कहा कि भ्रष्ट्राचार के विरुद्ध अभी और भी कदम उठाये जाएंगे।

Share this story