वैष्णों देवी का दर्शन करने गया दंपत्ति लापता पुलिस खोज में जुटी

जम्मू (सौरभ दीक्षित व शारिक परवेज)- वैष्णो देवी माता के दर्शन करने गये पीलीभीत के बल्लभ नगर कॉलोनी निवासी पति-पत्नी व उनका बेटा रहस्यमय ढंग से लापता हो गया। आठ दिन से उनका कोई सुराग नहीं लग सका है। मोबाइल फोन स्विच ऑफ हो जाने पर परिवार वालों को चिंता हुयी। सुनगढ़ी थाने में गुमशुदगी दर्ज कराने के साथ ही रिश्तेदार जम्मू जाकर उसको तलाशने में जुटे है, इधर पुलिस भी कोई लोकेशन पता नहीं लगा सकी है।
सुनगढ़ी थाना क्षेत्र के बल्लभ नगर कॉलोनी निवासी गिरिराज सिंह रिटायर्ड दरोगा हैं। उनका छोटा बेटा सौरभ अपनी पत्नी छाया व 2 साल के बेटे अंश के साथ 1 जुलाई की शाम करीब पांच बजे पीलीभीत से बस से मां वैष्णो देवी के दर्शन करने निकले थे। बस से उसे दिल्ली तक जाना था। रास्ते में पत्नी का स्वास्थ्य खराब होने के बाद वह मुरादाबाद रुक गया और अगले दिन दिल्ली होते हुए उसने अपनी यात्रा पूरी की। तीनों ने माता के दर्शन करने के बाद 4 जुलाई की शाम बड़े भाई विनय को फोन कर बताया कि वह जम्मू के नीलकंठ होटल में ठहरे हैं। उसकी ट्रेन निकल गई है और वो किसी अन्य सवारी से आ जाएगा। यहां मोबाइल काम नहीं कर रहा है इसलिए होटल से फोन किया है। तब से वो अभी तक नहीं आया, 8 दिन बाद भी जब उनका कोई पता नहीं लग सका परिवार वालों ने फोन मिलाया, लेकिन नंबर लगातार स्विच ऑफ बता रहा है। इसके बाद परिवारीजनों की चिंता बढ़ गई। इसकी सुनगढ़ी पुलिस को सूचना दी गई। जिस पर पुलिस ने गुमशुदगी दर्ज की, लेकिन अब तक दंपति की लोकेशन पुलिस पता नहीं लगा सकी है। सौरभ के ससुर अन्य रिश्तेदारों के साथ जम्मू गए हुए हैं। दो दिन से वह जम्मू में ही लापता परिवार को खोजने में लगे है। इस दौरान उनको पता लगा है कि दंपति का रिजर्वेशन हो चुका था। जिस पर उन्होंने 5 जुलाई को जम्मू के नीलकंठ होटल से चेकआउट कर लिया। इसके बाद वह ट्रेन में सवार हुए या नहीं, इसका पता नहीं लग सका है। परिवार पुलिस पर किसी भी तरह की मदद नहीं करने का आरोप लगा रहा है।
धार्मिक स्थलों पर मंडरा रहे आतंकी खतरे को देखते हुए परिवार को अचानक रहस्यमय ढंग से लापता हुए दंपति की सलामती को लेकर चिंता बनी हुई है। परिवार उनकी सलामती की दुआएं मांग रहा है।


Share this story