सोनिया गांधी से क्यों मिलने पहुंचे मोदी के मंत्री

दिल्ली - जुलाई में होने वाले राष्ट्रपति चुनावों को लेकर अब गर्मा गर्मी और भी बढ़ गई है। इसके चलते शुक्रवार को बीजेपी द्वारा गठित की टीम कमेटी के सदस्य वेंकैया नायडू और राजनाथ सिंह ने कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी से उनके आवास पर मिलने के लिए गए। जानकारी के लिए बता दें कि नए राष्ट्रपति का चुनाव बीजेपी आम सहमति से करना चाहती है, जिसके चलते शुक्रवार को बीजेपी द्वारा गठित की गई कमेटी के सदस्या वेंकैया नायडू और राजनाथ सिंह कांग्रेस अध्यक्ष से मिलने के लिए पहुंचे हैं। लेकिन सोनिया गांधी से यह बैठक आधा घंटा भी नहीं चल पाई और इससे पहले ही बैठक खत्म हो गई।

बैठक के बाद मीडिया से बातचीत से बात करते हुए कांग्रेस के वरिष्ठ नेता गुलाम नबी आजाद ने कहा की इस बैठक में बीजेपी की तरफ से राष्ट्रपति उम्मीदवार के नाम पर किसी का भी नाम सामने नहीं आया है। उन्होंने बताया की वेंकैया नायडू और राजनाथ सिंह सोनिया गांधी से विपक्ष के राष्ट्रपति उम्मीदवार का नाम पूछा जा रहा था। वही सोनिया गांधी से मिलने के बाद बीजेपी नेता सीपीएम महासचिव सीताराम येचुरी से मिले।

राष्ट्रपति पद के लिए उम्मीदवार के नाम के लिए चर्चा करने के लिए गुरुवार को कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी ने कांग्रेस नेताओं से मुलाकात की थी। सूत्रों के मुताबिक खबरें हैं कि शुक्रवार को हुई बैठक में इस बात का फैसला लिया गया है कि जब एनडीए के नेता आएंगे तो सोनिया गांधी की प्रक्रिया क्या होगी। कांग्रेस एनडीए की तरफ से दो तरह की रणनीति के साथ नेता मैदान में आएंगे। सोनिया गांधी के अनुसार एनडीए की तरफ से नेता कुछ नाम सुझा सकते हैं तथा सोनिया गांधी से उनकी राय ले सकते हैं। वही सोनिया गांधी यह भी अनुमान लगा रही है कि जो नेता सामने आएंगे वह जनमत हमारे साथ है कि बात कह सकते हैं इसलिए विपक्ष को उसका समर्थन करना होग।


Share this story