aapkikhabar aapkikhabar

जब अखिलेश का रिश्तेदार बता रेल अधिकारी पर तानी रिवॉल्वर



जब अखिलेश का रिश्तेदार बता रेल अधिकारी पर तानी रिवॉल्वर

aapkikhabar.com

झांसी: अब तक सिर्फ सफेदपोश पर ही सत्ता की हनक का असर देखा जाता था। इस हनक से खाकी दूर थी, लेकिन धीरे-धीरे इस हनक का असर अब खाकी में भी नजर आने लगा। इसका उदाहरण उत्तर मध्य रेलवे के झांसी स्टेशन पर बने वीआईपी रूम में देखने को मिला। वीआईपी रूम में जब सोफे पर लेटे एक व्यक्ति से पूछा गया तो उसने न केवल डिप्टी एसएस को धमकाया, बल्कि उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री का रिश्तेदार बताकर रिवॉल्वर तानते हुए गोली मारने की धमकी। घबराकर डिप्टी एसएस वीआईपी रूम से भागे और जीआरपी व आरपीएफ को बुलाया। सूचना पर जब पुलिस पहुंची तो युवक धमकाते हुए वहां से भाग गया। 

व्यवस्था है कि स्टेशन पर बने वीआईपी रूम में विशिष्ट अतिथि रूककर ट्रेन का इंतजार कर सकते हैं। लेकिन अन्य लोग भी वीआईपी रूम में जाकर बैठ जाते हैं। ताजा मामले में दो युवक वीआईपी रूम में जाकर बैठ गए और थो़डी देर में दोनों वहां प़डे सोफों पर लेटकर सोने लगे। जब इसकी जानकारी ड्यूटी पर तैनात कार्मिशयल विभाग के डिप्टी एसएस ए.के. ठाकुर को मिली तो वीआईपी रूम में पहुंचकर उन्होंने उनसे पूछताछ की। इस पर युवक भ़डक उठा। ठाकुर ने बताया कि युवक ने अपना नाम सुभाष यादव बताते हुए कहा कि वह उत्तर प्रदेश पुलिस विभाग में उपनिरीक्षक पद पर तैनात है और उसके साथ जो व्यक्ति है, वह सिपाही है।

डिप्टी एसएस ने उन्हे वीआईपी रूम में जब सोफे पर लेटकर सोने से मना किया, तो युवक ने स्वयं को मुख्यमंत्री अखिलेश यादव का रिश्तेदार बताकर रौब झ़ाडते हुए उसके साथ गाली-गलौज करते हुए अभद्रता शुरू कर दी। शोर-शराबा सुनते ही अन्य कर्मचारी भी वीआईपी रूम में पहुंच गए। आरोप है कि जब युवक को गालियां देने से मना किया गया तो उसने अपनी रिवॉल्वर तानते हुए डिप्टी एसएस से कहा कि वह यहां से भाग जाएं, नहीं तो वह गोली मार देगा। यह सुनते ही डिप्टी एसएस घबरा गए और उन्होंने इसकी सूचना जीआरपी और आरपीएफ को दी। इस मामले में आरपीएफ पोस्ट प्रभारी ने बताया कि सूचना पर जब आरपीएफ के जवान मौके पर पहुंचे तो वह वहां से भाग चुका था। उसकी काफी तलाश की गई, लेकिन उसका कोई सुराग नहीं लगा।

-



सम्बंधित खबरें



खबरें स्लाइड्स में


खबरें ज़रा हट के