Top
Aap Ki Khabar

यूपी पंचायत चुनाव: सरकार के कई मंत्री-विधायक के रिश्तेदार हारे

यूपी पंचायत चुनाव: सरकार के कई मंत्री-विधायक के रिश्तेदार हारे
X
लखनऊ: उत्तर प्रदेश में अखिलेश सरकार ने कैबिनेट में फेरबदल कर भले ही मेकओवर की कोशिश की है, मगर पंचायत चुनावों में सत्तारूढ समाजवादी पार्टी को तगडा झटका लगा है। रविवार को घोषित हुए प्रदेश के पंचायत चुनाव के नतीजों में समाजवादी पार्टी के कई मंत्रियों और पार्टी नेताओं के रिश्तेदार चुनाव हार गए हैं।

बता दें कि पंचायत चुनाव में समाजवादी पार्टी ने अपने मंत्रियों, पदाधिकारियों और जान पहचान वालों को बडे पैमाने पर टिकट दिया था, लेकिन इनमें से ज्यादातर को हार का सामना करना पडा है। वाराणसी में मंत्री सुरेंद्र पटेल के भाई महेंद्र पटेल की पत्नी शकुंतला देवी बीडीसी का चुनाव हार गई हैं। अमरोहा सपा जिलाध्यक्ष विजयपाल सैनी की पत्नी भी चुनाव हार गई हैं। संभल के असमौली से सपा विधायक पिंकी यादव के पति भी चुनाव हार गए हैं। यहीं से सपा जिलाध्यक्ष फिरोज खां की पतिनी भी चुनाव हार गई हैं। संभल के सांसद सत्यपाल सैनी की चाची चुनाव हार गई हैं। उन्हें बसपा के राज्यसभा सांसद की पत्नी ने हरा दिया है।

कानपुर के चौबेपुर ब्लॉक से सपा विधायक मुनीन्द्र शुक्ला के भाई अपने ही गांव से बीडीसी का चुनाव हार गए हैं। संत कबीर नगर में मंत्री शंखलाल मांझी की पत्नी अंजली काफी पीछे चल रही हैं। यही नहीं, बूथ कैप्चरिंग के आरोपी पैकफेड के चेयरमैन तोतराम 12 उम्मीदवारों में सबसे आखिरी नंबर पर रहे, उन्हें चुनावों में महज 28 वोट मिले।

इधर, पश्चिमी उत्तर प्रदेश के अमरोहा में कैबिनेट मंत्री महबूब अली की पत्नी और बेटा चुनाव जीत गए हैं, लेकिन उनकी भाभी हो हार का सामना करना पडा है। उधर, कैबिनेट मंत्री कमाल अख्तर के साले नदीम की पत्नी हुस्ना पांच हजार वोट से आगे थी। पूरे नतीजे दोपहर तक आने उम्मीद है, लेकिन अभी तक जो रिजल्ट आए हैं वे समाजवादी पार्टी के लिए चिंता की बात है, कई मंत्रियों के रिश्तेदार बुरी तरह हार गए हैं।


Next Story
Share it