aapkikhabar aapkikhabar

मोदी, नीतीश कुमार के बाद 2016 में ममता बनर्जी, जाने क्यों ?



मोदी, नीतीश कुमार के बाद 2016 में ममता बनर्जी, जाने क्यों ?

aapkikhabar.com

बिहार विधानसभा चुनाव में नीतीश कुमार की जीत में अहम भूमिका निभाने वाले प्रशांत किशोर और उनकी टीम अब बंगाल चुनाव में ममता बनर्जी की नैय्या पार लगाती दिखाई देगी। बंगाल में अगले साल विधानसभा चुनाव होना है। प्रशातं किशोर 2014 में हुए आम चुनाव में मोदी की जीत में अहम भूमिका निभाए थे।रिपोर्ट्स के मुताबिक प्रशांत किशोर की टीम मौजूदा मुख्यमंत्री ममता बनर्जी के इलेक्शन मैनेजमेंट का ज़िम्मा संभाल सकती है। हालांकि ममता बनर्जी ने एक अंग्रेजी अखबार को दिए इंटरव्यू में इस सवाल पर कहा, ''फिलहाल अभी इस बारे में किसी तरह की चर्चा नहीं हुई है।''बता दें कि 37 वर्षीय प्रशांत और उनकी टीम ने ही बीते लोकसभा चुनाव के दौरान नरेंद्र मोदी के राष्ट्रीय इलेक्शन कैम्पेन के लिए काम किया था। मोदी की 'चाय पर चर्चा' और 3 डी रैलियां जैसे नवीन आइडिया इसी टीम की दें रहे हैं। नरेंद्र मोदी को ऐतिहासिक जीत दिलाने के ठीक बाद यही टीम बिहार चुनाव में नीतीश कुमार को जीत दिलाने के लिए रणनीति बनाने में जुट गई थी।मोदी के लिए बनाया गया 'चाय पर चर्चा' की ही तर्ज़ पर नीतीश कुमार के लिए 'पर्चा पर चर्चा' का कैम्पेन चलाया गया। इस कैम्पेन के ज़रिये आम जनता से राज्य सरकार के बीते 10 साल की परफॉर्मेंस से उनकी राय मांगी गई थी। इसी कैम्पेन को आगे बढ़ाते हुए 'हर घर दस्तक' अभियान भी ज़ोर-शोर से चलाया गया।

-



सम्बंधित खबरें



खबरें स्लाइड्स में


खबरें ज़रा हट के