Top
Aap Ki Khabar

लडकी के पेट का ऑपरेशन कर डाक्टरों ने करीब ढाई किलो की बालों की गांठ निकाली

लडकी के पेट का ऑपरेशन कर डाक्टरों ने करीब ढाई किलो की बालों की गांठ निकाली
X
आपने बचपन में सुना होगा कि बच्चों की आदत होती है किसी की मिट्टी खाने की तो किसी दांत चबाने तो किसी की अंगुली चूसने की। बच्चों की इन अटपटी आदतों से मां बाप भी परेशान रहते हैं।
अक्सर वे बचपन में बच्चे की इन आदतों का ध्यान भी रखते हैं और इन आदतों को छुडाने का प्रयास करते हैं। लेकिन एक बच्चे की आदत सुनकर तो आप भी दंग रह जाएंगे और इस आदत का मां बाप को भी पता नहीं चला। यह लडकी बचपन से अपने मां बाप से छुपकर बाल खाती थी और वह इतने बाल खा गई कि उसको अस्पताल में भर्ती करना पडा। लेकिन जब डाक्टरों ने देखा तो वो भी हैरत में पड गए क्योंकि लडकी के पेट का ऑपरेशन कर डाक्टरों ने करीब ढाई किलो की बालों की गांठ निकाली।
जानकारी के अनुसार यूपी के बिजनौर की रहने वाली एक ल़डकी को अपने ही बाल खाने की हैरान करने वाली आदत थी। बचपन से बाल खाते-खाते इस लडकी के पेट में ढाई किलो बालों का गुच्छा इकटा हो गया। ल़डकी की जान पर बन आई। यूं तो उसे हमेशा पेट दर्द की शिकायत रहती थी, लेकिन जब दर्द ज्यादा बढ गया तो परिजन डॉक्टर्स के पास पहुंचे। मेरठ में डॉक्टर्स की टीम ने जब ऑपरेशन किया तो वो भी हैरान रह गए।
ल़डकी के पेट से ढाई किलो बालों का गुच्छा निकला। 16 साल की प्रीति का शौक था अपने ही बालों को खाना। उसके इस शौक की भनक उसके परिवार वालों तक को नहीं लग पाई। कई वषोंü तक बाल खाते-खाते इस लडकी के पेट में बालों का गुच्छा इकटा हो गया। पेट में दर्द रहने लगा। घरवालों को लगा कि कोई मामूली बात होगी, लेकिन जब डॉक्टर्स ने टेस्ट किए तो उनके सामने हैरान करने वाला सच सामने आया।
इस ल़डकी के पेट से डॉक्टर्स ने ढाई किलो बालों का गुच्छा ऑपरेशन करके निकाला। डॉक्टरों का कहना है कि वो आए दिन रेयर मामले देखते रहते हैं, लेकिन ये पहला वाक्या है कि किसी 16 साल की लडकी के पेट से ढाई किलो बालों का गुच्छा निकला हो। डॉक्टरों का कहना है कि डिप्रेशन के चलते ये लडकी अपने ही बाल खाती थी। उसे जब कुछ नहीं सूझता तो वो अपने ही बाल खाने लगती थी।
लडकी के परिवारवाले भी हैरान हैं कि आखिर ऎसा कैसे हो गया। बाल खाने वाली लडकी भी इशारों में बताती है कि बालों का गुच्छा पेट से निकल आने से अब वो राहत महसूस कर रही है और वो अब फिर कभी बाल न खाने की बात कह रही है। मेरठ में डॉक्टरों की टीम यकीनन बधाई की पात्र हैं, जिन्होंने इस ऑपरेशन को सफलतापूर्वक अंजाम दिया है।
Next Story
Share it