Top
Aap Ki Khabar

खुल गया राहुल गांधी की "गुमशुदगी" का राज

खुल गया राहुल गांधी की गुमशुदगी का राज
X
इंडिया टुडे के मुताबिक इस साल फरवरी से अप्रैल के बीच राहुल गांधी 4 दक्षिण पूर्व एशियाई देशों की यात्रा पर गए थे। इंडिया टुडे ने 16 फरवरी से लेकर 16 अप्रैल तक का राहुल का पूरा लेखा जोखा दिया है।
- 16 फरवरी 2015 - राहुल ने दिल्ली से बैंकॉक की उड़ान पकड़ी और एक दिन बैंकॉक में रहे- 17 फरवरी 2015 - राहुल बैंकॉक से कंबोडिया की राजधानी नॉमपेन्ह पहुंचे, वहां 11 दिन रहे- 28 फरवरी 2015 - राहुल वापस बैंकॉक आए
- 1 मार्च 2015 - म्यांमार गए, वहां 21 दिन बिताए- 22 मार्च 2015 - म्यांमार से फिर थाईलैंड लौटे, यहां 9 दिन बिताए- 31 मार्च 2015 - राहुल गांधी वियतनाम गए और 12 दिन तक वहीं रहे- 12 अप्रैल 2015 - राहुल एक बार फिर थाईलैंड लौटे और चार दिन रहे- 16 अप्रैल 2015 - राहुल वापस दिल्ली आ गएइंडिया टुडे के मुताबिक राहुल ने थाईलैंड, कंबोडिया, म्यांमार और वियतनाम की यात्रा के लिए थाईलैंड को अपना बेस बनाया था और सबसे ज्यादा 21 दिन उन्होंने म्यांमार में बिताए। राहुल थाईलैंड में बौध मंदिर अयुध्या भी गए जो अयोध्या के नाम पर है। इंडिया टुडे के मुताबिक राहुल गांधी के साथ इन छुट्टियों के दौरान कांग्रेस नेता सतीश शर्मा के बेटे समीर शर्मा भी मौजूद थे साथ ही एसपीजी के दो जवान भी उनके साथ थे।बताया जा रहा है कि राहुल गांधी ने दो महीने तक दक्षिण पूर्व एशिया की संस्कृति और सभ्यता को देखा और समझा। इंडिया टुडे के मुताबिक राहुल गांधी के इस दौरा का ज्यादातर हिस्सा एक विदेशी कंपनी ने स्पॉन्सर किया था। सवाल ये उठ रहे हैं कि आखिर इन चार देशों की यात्रा के लिए राहुल की हवाई यात्रा का खर्च किसने उठाया। राहुल ने बिना पूरी एसपीजी सुरक्षा के ये यात्रा क्यों की, जबकि एसपीजी ने पहले ही इस दौरे पर एतराज जताया था।


Next Story
Share it