Top
Aap Ki Khabar

लव, सेक्स अौर ड्रग के जरिए भोली-भाली छात्राआें को ब्लैकमेल करने वाले गैंग का पर्दाफाश

लव, सेक्स अौर ड्रग के जरिए भोली-भाली छात्राआें को ब्लैकमेल करने वाले गैंग का पर्दाफाश
X
नोएडा-- वेस्ट यूपी में लव, सेक्स अौर ड्रग के जरिए भेली-भाली छात्राआें को अपने जाल में फंसाकर उनका रेप करके ब्लैकमेल करने वाले एेसे गैंग का पर्दाफाश हुआ है, जिसकी करतूतें सुनकर आप हैरान रह जाएंगे। इस गैंग मे शामिल आरोपी कोर्इ एेरे-गैरे उठार्इगिरे नहीं बल्कि बड़े अधिकारियों के बेटे हैं। इस गैंग ने कर्इ छात्राआें को अपना शिकार बनाया है।वेस्ट यूपी में स्कूल की छात्राआें को प्रेम जाल में फंसाकर उनका रेप करके ब्लैकमेल करने का बहुत बड़ा रैकेट चल रहा है। हाल ही में मेरठ में गैंग के कुछ बदमाशों की गिरफ्तारी के बाद इसका खुलासा हुआ। यह गैंग छोटी उम्र की लड़कियों को अपने जाल में फंसाकर उनका गैंगरेप करता था। इस गैंग की पीड़ित लड़की की हिम्मत से ये मामला खुल पाया। अब पीड़िता ने आरोपियों को जेल पहुंचाने की ठान ली है। मामले में रोज नए खुलासे हो रहे हैं। मामले में पांच आरोपियों ने नौंवी की छात्रा के साथ गैंगरेप किया था।
अश्लील तस्वीरों से किया ब्लैकमेलइ सके बाद आरोपी अश्लील तस्वीरों के सहारे छात्रा के साथ रेप करते रहे। खेल तब बिगड़ा जब छात्रा ने अपने घर वालों को सारी बात बता दी और आरोपियों के खिलाफ कानूनी कार्रवाई शुरू हुई। मामले में तीन आरोेेपियों को गिरफ्तार कर लिया गया है, जबकि बहुत से आरोपी अब भी फरार हैं।
पीड़िता मेरठ के एक बड़े अधिकारी की बेटी पीडित छात्रा मेरठ के एक बड़े अधिकारी की बेटी है और आरोपी भी बड़े घरों के लड़के हैं। पीड़ित छात्रा अंग्रेजी मीडियम स्कूल में नौंवी में पढ़ती है। छात्रा ने सोमवार को एसीजीएम के समक्ष अपने बयान दर्ज कराए। इस दौरान जब उसने आपबीती बतार्इ तो वहां मौजूद लोगों के होश उड़ गए।
ड्रग्स देकर बना दिया आदी छात्रा ने कहा कि उसे ड्रग्स दिया जाता था, जिसका पहले तो उसे इसका पता नहीं चला। फिर उसे भी इसकी लत पड़ गर्इ, जिसके बाद आरोपी इसका फायदा उठाने लगे।
फेसबुक से फंसाया जाल में पीड़िता ने बताया कि सोशल साइट फेसबुक के जरिए उसकी दोस्ती अरीब से हुर्इ थी। फिर दोस्ती की आड़ में पार्टियां होने लगीं। उसमें उसे धोखे से ड्रग्स दी जाती थी।
आरोपियों ने किया रेप का प्रयास छात्रा ने पांच आरोपियों के नाम दर्ज कराए हैं। वारदात वाले दिन 27 जुलाई को भी उसको ड्रग्स दिया गया था। जब वह ड्रग्स के नशे में थी, तब सिद्धार्थ उसे गंगानगर स्थित एक गेस्ट हाउस में ले गया। जहां उसने अपने साथी शशांक, साकिब, शुभम और अरीब के साथ मिलकर उससे दुष्कर्म का प्रयास किया। लेकिन वे अपने नापाक मंसूबों में कामयाब हो पाते, इससे पहले छात्रा काे होश आ गया और वह वहां से भाग निकली।
आरोपियों के नाम अब तक पकड़े गए — अरीब, शशांक प्रधान, शुभम गुर्जरफरार — सिद्धार्थ गुर्जर और रकीब किठौर
सिद्घार्थ है मास्टरमाइंड सिद्धार्थ ही गैंग का मास्टरमाइंड बताया जा रहा है जो मोदीनगर के एक कॉलेज में पढ़ता है। यह मेरठ के शास्त्रीनगर का रहने वाला है।


Next Story
Share it