Top
Aap Ki Khabar

"महान लोगों" द्वारा बनाई जाने वाली फिल्मों की सफलता इस बात का प्रमाण हैं कि देश में असहिष्णुता नहीं है।

महान लोगों द्वारा बनाई जाने वाली फिल्मों की सफलता इस बात का प्रमाण हैं कि देश में असहिष्णुता नहीं है।
X
असहिष्णुता को लेकर आमिर खान की टिप्पणी के बाद उठे विवाद के बीच बॉलीवुड गायिका हेमा सरदेसाई ने कहा कि देश में "महान लोगों" द्वारा बनाई जाने वाली फिल्मों की सफलता इस बात का प्रमाण हैं कि सभी उनके साथ हैं और यहां असहिष्णुता नहीं है। गोवा से ताल्लुक रखने वाले सरदेसाई ने जोर देकर कहा कि भारत में असहिष्णुता नहीं है और इससे संबंधित छिटपुट घटनाओं को अपवाद के तौर पर देखा जाना चाहिए।

उन्होंने से कहा, "भारत में असहिष्णुता के बारे में बोलने वाले महान लोगों में से अधिकांश की मैं बहुत ब़डी प्रशंसक हूं। लेकिन मैं इसका बिल्कुल भी समर्थन नहीं करती, क्योंकि मुझे लगता है कि उनकी फिल्में बेहद हिट होती हैं और यह साबित करता है कि सभी उनके साथ हैं। इसका मतलब है कि भारत में सभी साथ हैं। यहां कोई सांप्रदायिकता नहीं है।" "दमन", "बागबान" और "चक दे इंडिया" जैसी कई मनोरंजक फिल्मों के लिए मशहूर गाने गा चुकीं सरदेसाई ने राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (राजग) सरकार की भी प्रशंसा की।

सरदेसाई ने कहा, "हम विविधता में समन्वयता के बीच बेहद खूबसूरती से साथ रहते हैं। नई सरकार के सत्ता में आने के बाद भी यह सर्वश्रेष्ठ स्तर पर बरकरार है। छिटपुट घटनाएं पूरी दुनिया में हर जगह होती हैं।" सरदेसाई ने कहा, "कुछ सितारे जिनकी मैं प्रशंसक हूं, उन्हें अगर अपनी जिंदगी के लिए खतरा महसूस होता है और इसलिए वे अगर देश से बाहर जाना चाहते हैं तो मैं आपको आश्वासन देती हूं कि यहां सब कुछ ठीक है।"
Next Story
Share it