Top
Aap Ki Khabar

कॉन्सटेबल अब्दुल रशीद और कफैतुल्लाह खान को पाकिस्तानी खुफिया एजेंट गिरफ्तार

कॉन्सटेबल अब्दुल रशीद और कफैतुल्लाह खान को पाकिस्तानी खुफिया एजेंट गिरफ्तार
X
नई दिल्ली-- बीएसएफ के हेड कॉन्सटेबल अब्दुल रशीद और कफैतुल्लाह खान को पाकिस्तानी खुफिया एजेंसी आईएसआई को भारत की खुफिया जानकारियां उपलब्ध कराने के आरोप में गिरफ्तार किए गया था। पूछताछ में कफैतुल्लाह खान ने बताया कि राजधानी दिल्ली स्थित पाकिस्तान उच्चायोग में एक शख्स मौजूद है, जो भारत विरोधी गतिविधियों में संलग्न है।इस शख्स की पहचान के बारे में अभी कोई खुलासा नहीं किया गया है।खान को आईएसआई ने भर्ती और सूचना शेयर करने के लिए पाकिस्तान बुलाया था, लेकिन उसके वीजा की अवधि समाप्त हो चुकी थी अतः उसे पाकिस्तान उच्चायोग में मौजूद एक शख्स से बातचीत करने के लिए कहा गया। उच्च स्तरीय सूत्रों ने इस बात की पुष्टि की कि बीएसएफ में तैनात रशीद सेना के वॉर प्लान की जानकारी आईएसआई को मुहैया कराता था। दिल्ली पुलिस ने रशीद के पास से सेना की ओर से जारी किए जाने वाले ऑर्डर ऑफ बेटल की कॉपी बरामद की है।सूत्रों के मुताबिक आईएसआई ने रशीद के हवाले से दो राष्ट्रीय राइफल यूनिटों की तैनाती और पुंछ, मेंढर और राजौरी में बीएसएफ की तैनाती की जानकारी हासिल की थी। पुलिस ने यह सारी जानकारी दिल्ली की एक अदालत को सौंपी है। रशीद और कफैतुल्लाह से उनके पाकिस्तानी आकाओं के बारे में जानकारी हासिल करने के लिए पूछताछ की गई। दोनों से इस बात को लेकर भी पूछताछ की गई कि उनके अन्य सुरक्षा बलों में क्या संपर्क हैं। दोनों पर अन्य बलों में भी घुसपैठ का शक है। कहा जा रहा है कि आने वाले दिनों में कुछ और लोगों की घुसपैठ हो सकती है।गौरतलब है कि पाकिस्तान की खुफिया एजेंसी आईएसआई के लिए जासूसी करने के आरोप में गिरफ्तार किया गया।भारतीय सीमा सुरक्षा बल के हवलदार अब्दुल रशीद को हर महीने एक लाख रुपए की सैलरी दी जाती थी। इतना ही नहीं इस जासूस की नजर झांसी के हथियार डिपो पर भी थी। जांच में सामने आया है कि आईएसआई को झांसी में सेना की 31 आर्मड डिविजन के हथियार डिपो के कुछ कागजात भी मिल गए हैं

Next Story
Share it