aapkikhabar aapkikhabar

बिहार में धरल्ले से बिकती रहेगी विदेशी शराब



बिहार में धरल्ले से बिकती रहेगी विदेशी शराब

aapkikhabar.com

पटना। बिहार के मुख्यमंत्री नीतिश कुमार राज्य में शराब की बिक्री पर 1 अप्रेल से प्रतिबंध लगाने की घोषणा कर भले ही वाह-वाही लूट रहे हों, पर हकीकत यह यह है कि सिर्फ देशी शराब पर ही रोक लगाई जा सकेगी। नीतिश कुमार की इस ओर से राज्य को 5,500 करोड़ रुपए के राजस्व का नुकसान होगा। राज्य के राजस्व विभाग के अधिकारियों का सुझाव है कि आर्थिक रूप से पिछड़े इस राज्य के लिए इतनी बड़ी राशि का नुकसान सह पाना आसान नहीं होगा। ऐसे में यह प्रतिबंध देशी शराब तक ही सीमित होना होगा।

राज्य के रेवन्यू एंड एक्साइज विभाग के एक अधिकारी ने राजधानी के एक अंग्रेजी अखबार से बातचीत में नाम न छापने की शर्त पर कहा है कि प्रतिबंध पहले देशी शराब पर लगाया जाएगा। इतना आर्थिक बोझ सह पाना आसान नहीं होगा। एक सामाजिक कार्यकर्ता राजेश कुमार ने भी इसी तरह के विचार व्यक्त करते हुए कहा है कि मुख्यमंत्री ने जो चुनावी वादे किए है, उसे पूरा करने के लिए राज्य को पांच साल में 2.7 लाख करोड़ रुपए की दरकार होगी।

उल्लेखनीय है कि राज्य में हर साल कम से कम 100 से 120 करोड़ देशी शराब की खपत होती है। उधर, एक्साइज मंत्री अब्दुल जलील मस्तान ने कहा है कि प्रतिबंध पूरी तरह लगाया जाएगा। हम इसका उल्लंघन बर्दाश्त नहीं करेंगे।


-



सम्बंधित खबरें



खबरें स्लाइड्स में


खबरें ज़रा हट के