aapkikhabar aapkikhabar

जानिये क्या है "आर एस एस"



जानिये क्या है

aapkikhabar.com

जनिये क्या है आर एस एस

नई दिल्ली-राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ यानि कि ( R.S.S.) आजकल एक चर्चा का बिंदु बना हुआ है इसपर लगातार आलोचनाओं की बौछार हुआ करती है हलाकि यह सामाजिक संगठन है और राष्ट्र के निर्माण में समय समय पर अपना सकरात्मक योगदान देता रहे है लेकिन
विपक्षी दलों के हमेशा से ही निशाने पर रहा है यह एक हिंदू संघटन है जिसके सिद्धान्त हिंदुत्व में निहित और आधारित हैं। यहराष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ की अपेक्षा संघ या आर.एस.एस.के नाम से अधिक प्रसिद्ध है। इसकी शुरुआत सन् १९२५ मेंविजयादशमी के दिन डॉ॰ केशव हेडगेवार द्वारा की गयी थी।बीबीसी के अनुसार संघ विश्व का सबसे बड़ा स्वयंसेवी संस्थान है।

सबसे पहले ५० वर्ष बाद १९७५ में जब आपातकाल की घोषणा हुई तो तत्कालीन जनसंघ पर भी संघ के साथ प्रतिबंध लगा दिया गया। आपातकाल हटने के बाद जनसंघ का विलय जनता पार्टी में हुआ और केन्द्र में मोरारजी देसाईके प्रधानमन्त्रित्व में मिलीजुली सरकार बनी। १९७५ के बाद से धीरे-धीरे इस संगठन का राजनैतिक महत्व बढ़ता गया और इसकी परिणति भाजपा जैसे राजनैतिक दल के रूप में हुई जिसे आमतौर पर संघ की राजनैतिक शाखा के रूप में देखा जाता है। संघ की स्थापना के ७५ वर्ष बाद सन् २००० में प्रधानमन्त्री अटल बिहारी वाजपेयी के नेतृत्व में एन०डी०ए० की मिलीजुली सरकार भारत की केन्द्रीय सत्ता पर आसीन हुई।
विकिपीडिया के अनुसार



-



सम्बंधित खबरें



खबरें स्लाइड्स में


खबरें ज़रा हट के