aapkikhabar aapkikhabar

यूँ ही नहीं दिया "अखिलेश "ने "राहुल" को "डिप्टी पी एम "बनाने का "फार्मूला"



यूँ ही नहीं दिया

aapkikhabar.com


नई दिल्ली -मुलायम सिंह को प्रधानमंत्री और राहुल को उपप्रधानमंत्री बनाने का 'अखिलेश' फॉर्मूला देने के बयान ने जोर पकड़ लिया है हालांकि यह एक समिट में पूछे गए जवाब पर था और इसे अखिलेश ने मजाकिया लहजे में कहा था लेकिन इस बयान ने चर्चा जोर पकड़ाई और दर्शकों ने तालियों से इस जवाब का स्वागत भी किया हालांकि राहुल गांधी बिलकुल शांत बैठे रहे और कोई प्रतिक्रिया नहीं दी ।


क्या था सवाल

समिट में अखिलेश यादव से सवाल पूछा गया कि क्या सपा कांग्रेस से गठबंधन कर सकती है जिसके जवाब में अखिलेश यादव ने यह जवाब दिया था ।
प्रधानमंत्री की कुर्सी पर मुलायम सिंह यादव और उपप्रधानमंत्री राहुल गांधी - उत्तरप्रदेश के मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने हिंदुस्तान टाइम्स लीडरशिप समिट में एक सवाल का कुछ इस तरह जवाब दिया। वहीं दर्शक दीर्घा में बैठे राहुल गांधी ने मुस्कुराते हुए इस पर किसी तरह की टिप्पणी करने से मना कर दिया।


दर्शकों ने तालियों के साथ उत्तरप्रदेश के इस मुख्यमंत्री के जवाब का अभिवादन किया। गौरतलब है कि इससे ठीक थोड़ी देर पहले भारत के सबसे युवा मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने कांग्रेस के उपाध्यक्ष राहुल गांधी को अपना पुराना दोस्त बताया था। उन्होंने राहुल के लिए कहा 'वह यहां मौजूद हैं, आप उनसे पूछ सकते हैं। वह मेरे पुराने मित्र हैं।' इस पर राहुल गांधी ने किसी तरह की प्रतिक्रिया देने से मना कर दिया।

क्या है इस जवाब के मायने

जानकारों का मानना है कि बिहार में महागठबंधन से अलग होने के बाद सपा के पास राष्ट्रीय राजनीति में कांग्रेस को साथ लेना एक बेहतर विकल्प हो सकता है साथ ही इससे नितीश के बढ़ते हुए कदम को भी रोका जा सकता है इसलिए भले ही यह बयान एक मजाक के तौर पर दिया गया हो लेकिन इसके राजनैतिक संकेत गहरे हैं।

-



सम्बंधित खबरें



खबरें स्लाइड्स में


खबरें ज़रा हट के