Top
Aap Ki Khabar

ट्विटर पर छाया "पठानकोट "में हमले का मामला

ट्विटर पर छाया पठानकोट में हमले का मामला
X
नई दिल्ली-भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जहाँ पकिस्तान से दुरी कम करने की कोशिश करते हैं उसके वजह से ये विरोधी दलो के निशाने पर रहते हैं वहीँ उनके पाकिस्तान के जाल के यात्रा पर आतंकी संगठन भी उबलने लगते हैं पठानकोट के एयरबेस पर हुए आतंकी हमले के बाद नाराज लोग सोशल मीडिया के जरिए गुस्सा निकाल रहे हैं। ट्विटर पर ट्रेंड करते हुए लोग अपना गुस्सा निकाल रहे हैं फिल्म डायरेक्टर-प्रोड्यूसर शिरीष कुंदर ने कमेंट किया कि अटैक नवाज शरीफ का सरप्राइज विजिट का आइडिया है। नरेंद्र मोदी के पाकिस्तान जाकर नवाज शरीफ को बर्थडे विश करने को भी कुछ लोग अब गलत ठहरा रहे हैं। #Pathankot हैशटैग पर लोग क्या कमेंट कर रहे हैं, जानते हैं... नवाज की सरप्राइज विजिट -शिरीष कुंदर- अटैक नवाज शरीफ का सरप्राइज विजिट का आइडिया है। - उमर अब्दुल्ला ने ट्वीट किया- बीजेपी को अपनी पहले की 'टेरर और टॉक साथ नहीं हो सकते' की पॉलिसी से हट जाना चाहिए और पाकिस्तान के साथ बातचीत बंद करनी चाहिए। - अरविंद केजरीवाल ने लिखा- पठानकोट में अटैक की बात सुनकर दुख हुआ। - कांग्रेस नेता परताप सिंह बाजवा ने लिखा- पठानकोट एयरफोर्स स्टेशन पर अटैक हुआ। पिछले 6 महीने में ये दूसरा अटैक है। उम्मीद है टेररिस्ट को जल्द पकड़ लिया जाएगा। - पंजाब के पूर्व सीएम अमरिंदर सिंह ने ट्वीट किया- पाकिस्तान के साथ पीस प्रोसेस शुरू होने के बाद ऐसा होना दुखद है। - शिवसेना सांसद संजय राउत ने लिखा- पाकिस्तान के इस प्रकार के टेररिस्ट ग्रुप हैं, उनको उनकी भाषा में जवाब देना जरूरी है। - निखिल विनॉय ने लिखा, "मोदी जी जाइए, आपके पाकिस्तानी दोस्त नवाज शरीफ ने आपके लिए न्यू ईयर पर रिटर्न गिफ्ट भेजा है।" - अरुण मैसूर ने लिखा, "यह दाऊद के बर्थडे पर मोदी-शरीफ की बातचीत का नतीजा है।" - एक ट्वीट में मोदी पर तंज कसते हुए कहा गया है- मोदी डिप्लोमेसी काम कर रही है। - एक ट्वीट में कहा गया, देश आप का- आतंकवादियों की शादी में जाएंगे तो रिटर्न गिफ्ट बिना कैसे लौटेंगे, याद है ना कारगिल। - एक और ट्वीट में इसे कश्मीर मुद्दे से जोड़ते हुए कहा गया - जब तक कश्मीर पर बात नहीं बनेगी, तब तक ऐसे हमले तो होते रहेंगे। - ‏@iMac_too हैंडल से किए गए ट्वीट में कहा गया- मोदी के नवाज शरीफ के बर्थडे पर पाकिस्तान जाकर उन्हें विश करने से कुछ भी हासिल नहीं हुआ। हमला इसी का सबूत है। जाहिर सी बात है कि इस सोशल मीडिया के जरिए लोग अपनी भावनाओं को व्यक्त तो कर ही रहे हैं साथ ही सरकार तक अपने सन्देश भी पंहुचा रहे हैं । Souce web
Next Story
Share it