aapkikhabar aapkikhabar

लौट आओ हनुमंथप्पा



लौट आओ हनुमंथप्पा

aapkikhabar.com

नई दिल्ली: दुआओं ने अपना असर नहीं दिखाया विपरीत परिस्थितियों में मौत को मात देने के बाद हनुमंथप्प जिंदगी की आखिर लड़ाई हार गए और उनकी मौत के साथ ही करोड़ों लोगों की उम्मीद भी हार गयी सियाचिन में छह दिन 35 फुट बर्फ के नीचे फंसे रहने का बाद जिंदा निकले लांस नायक हनुमंतप्पा नहीं रहे। दिल्ली के आर्मी अस्पताल में 11.45 पर उन्होंने आखिरी सांस ली। इससे पहले खबर मिली थी कि उनकी हालत और बिगड़ गई है और वह गहरे कोमा में चले गए हैं।

हनुमंतप्पा के शरीर के कई अंग काम नहीं कर रहे थे, उनके दोनों फेफड़ों में निमोनिया के लक्षण पाए गए थे, तथा उनके दिमाग तक ऑक्सीजन नहीं पहुंच रहा थी। उनकी हालत बेहद गंभीर बताई गई थी।
 उनकी मौत के बाद प्रधानमंत्री मोदी ने भी शोक जाहिर किया है


-



सम्बंधित खबरें



खबरें स्लाइड्स में


खबरें ज़रा हट के