Top
Aap Ki Khabar

राम वृक्ष का कोई पता नहीं ,जिन्दा होगा तो गिरफ्तार करेंगे

राम वृक्ष का कोई पता नहीं ,जिन्दा होगा तो गिरफ्तार करेंगे
X
मथुरा - उद्यान विभाग की 280एकड जमीन पर बने जवाहर बाग मे हुए हिसंक संघर्श मे 2पुलिस जवानो के शहीद होने एवं 22उपद्रवियो के मारे जाने की पुश्टि डी जी पी जावेद अहमद ने की है। मथुरा मे जवाहर बाग पर दो साल से अधिक समय से कब्जा किये हुए बैठे कब्जा घारियो ने अचानक पुलिस पर हमला कर दिया। इस मामले की गभीरता को देखते हुए मुख्यमंत्री के निर्देष पर डी जी पी जावेद अहमद एवं प्रमुख सचिव गृह देवाषीश पान्डया मथुरा आये । डी जी पी ने इस उपद्रव मे शहीद हुए ए एस पी सिटी मुकुल द्विवेदी को श्रद्वाजलि अर्पित की । मीडिया से बात करते हुए जी पी जावेद अहमद का कहना है कि जवाहर बाग पर लम्बे समय से कब्जा किये हुए बैठे उपद्रवियो ने रैकी करने गये पुलिस टीम पर हमला कर दिया जिसमे दो पुलिस अधिकारी शहीद हुए है उनका कहना है कि इस संघर्श मे 22उपद्रवी भी मारे गये है । वही 11 उपद्रवीयों ने खुद झोपडियो मे आग लगाने के कारण हुएविस्फोट मे मारे गये है । उनका कहना है कि इस पूरे संघर्श मे 23पुलिसकर्मी जख्मी हुए है वही बडी संख्या मे असलाह भी बरामद किये गये है । उनका कहना है कि 124लोगो को हत्या बलवा और सरकारी सम्पत्ति को नुकसान पहुॅचाने के मामले मे गिरप्तार किया गया है ।वही 196लोगो को षांति भंग के आरोप मे गिरप्तार किया है ।

राम वृक्ष यादव का कोई पता नहीं

डी जी पी का कहना है कि कब्जा घारियो का नेता रामवृक्ष यादव यदि जिंदा होगा तो उसे हर हालत मे गिरप्तार किया जायेगा । अभी उसका कोई पता नही चल सका है । फिलहाल जवाहर बाग आपरेशन पूर्ण हो जाने के बाद वहॉ पुलिस बल तैनात कर दिया गया है स्थिति पूरी तरह नियंत्रण मे है ।

ढाई हजार लोगों की निजी सेना थी राम वृक्ष के पास
आपको बता दे की घटना का मुख्य आरोपी रामवृक्ष यादव जिसके पास करीब 2500 लोगो की निजी सेना थी जिनके पास हर प्रकार के हथियार थे इस सेना में बच्चे बूढ़े जवान और महिलाएं भी थी रामवृक्ष अपनी सुरक्षा के लिए बच्चों और महिलाओं को ढाल के रूप में इस्तमाल किया करता था स्थानीय लोगो की अगर माने तो इस केम्प में हूबहू आई एस आई एस की तरह बच्चों को हथियारों की ट्रेनिंग दी जाती थी और स्थानीय लोगो को डराया जाता था |
Next Story
Share it