Top
Aap Ki Khabar

मानों आसमान उतर आया हो जमीन पर,राजनाथ ने किया हवाई सर्वेक्षण

मानों आसमान उतर आया हो जमीन पर,राजनाथ ने किया हवाई सर्वेक्षण
X
नई दिल्ली- पानी ही पानी चारों तरफ इस तरह से फैला हुआ है जैसे जी आसमान पूरा जमीं पर ही उतर आया हो कुछ महीनों पहले जैसे देश ने सूखे की आपदा से निबटा अब चरों तरफ बाढ़ ही बाढ़ है । इस विभीषिका से निबटने के लिए और तरियों का जायज लेने के लिए गृह मंत्री राजनाथ से ने हवाई यात्रा की देश के पूरब से लेकर पश्चिम और उत्तर से लेकर दक्षिण तक बारिश लोगों की जान की दुश्मन बनी हुई है। असम और बिहार में बाढ़ से हालात बेकाबू हैं। कर्नाटक में भारी बारिश से सड़कें तालाब में तब्दील हो चुकी हैं। असम के 21 जिलों में बाढ़ की वजह से 20 लोगों की मौत हो गई और 19 लाख से अधिक लोग प्रभावित हैं। बिहार में अभी तक 22 जानें जा चुकी हैं। वहीं बारिश और बाढ़ ने आईटी सिटी बेंगलुरु की भी रफ्तार रोक दी है। बारिश ने राज्यों के साथ केंद्र सरकार की भी टेंशन बढ़ा दी है। शनिवार को गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने बाढ़ से डूबे असम का हवाई सर्वेक्षण किया। असम में 19 लाख लोग प्रभावित असम राज्य आपदा प्रबंधन प्राधिकरण (एएसडीएमए) ने कहा कि सबसे अधिक प्रभावित जिलों में लखीमपुर, गोलाघाट, बोंगईगांव, जोरहट, धेमाजी, बारपेटा, गोलपाडा, धुब्री, दर्रांग,मोरीगांव और सोनितपुर शामिल हैं। अन्य प्रभावित जिले हैं- शिवसागर, कोकराझार, डिब्रुगढ़, तिनसुकिया, विश्वनाथ, नालबारी, बासका, उदलग्लुरी, कामरुप, चिरांग। गुवाहाटी, जोरहट में नेमाटीघाट, सोनितपुर में तेजपुर, गोलपाडा और धुब्री में ब्रह्मपुत्र नदी खतरे के निशान से ऊपर बह रही है। एनडीआरएफ, एसडीआरएफ और सेना प्रभावित आबादी को सुरक्षित जगहों पर पहुंचाने में जिला प्रशासन की मदद कर रही है। राज्य में बाढ़ से 20 लोगों की जान जा चुकी है। कुल 19 लाख लोग प्रत्यक्ष या परोक्ष रूप से प्रभावित हुए हैं। सोर्स 24
Next Story
Share it