aapkikhabar aapkikhabar

पुलिस की हैवानियत आर्मी कैप्टन को पीटा



पुलिस की हैवानियत आर्मी कैप्टन को पीटा

aapkikhabar.com


फैज़ाबाद -उत्तर प्रदेश के फैज़ाबाद जिले के कैंट थाने में पुलिस की हैवानियत देखने को मिली है । थाने में 25 -30 पुलिस कर्मियो ने आर्मी के एक कैप्टन को लात-घूसों -लाठी -डंडो से बड़ी बेरहमी से पीटा। ..पुलिस ने हैवानियत की सारी हदे ही पार कर दी ... जम्मू में तैनात सेना का कैप्टन छुटटी पर आया है और आरोप है कि वह शराब पीकर गाड़ी चला रहा था और एक गाड़ी में इसकी गाडी टकरा गई। इसी के बाद पुलिस उसे कैंट थाने लाई। कैप्टन का आरोप है कि पुलिस ने उससे सुलह -समझौते के नाम पर उससे 15 हजार रुपये मांगे। उसने जब नाराजगी जताई और कहा की आप हमें इस तरह डिटेन नहीं कर सकते इसके बाद उसके ऊपर पुलिस का सितम टूट पड़ा ,,, जबकि पुलिस खुद कह रही है कि अभी उनके पास उसके खिलाफ कोई तहरीर नही आई ....
देश की सरहद की निगहबानी करने वाले जब अपने वतन पहुचते है तो उनके साथ कैसा सुलूक होता है।ये बताने के लिए ये वीडियो काफी है। शर्म आती है यूपी पुलिस पर। एक आर्मी अफसर थाने में मारा पीटा जा रहा है ।वो चीख रहा है, चिल्ला रहा है। उसे ज़मीन पर गिराकर कई पुलिस वाले लाठी डंडो से पीट रहे है।लेकिन फैज़ाबाद पुलिस तो हैवान बन चुकी है।उसे कोई फ़र्क़ नही पड़ रहा है। दरअसल सेना का ये अफसर आशीष तिवारी है और जम्मू में तैनात है।वो छुटियाँ बिताने अपने घर फैज़ाबाद आया है। कसूर ये है कि शराब के नशे में गाड़ी चलाते वक़्त उसकी कार किसी शख्स से टकरा गयी और फिर पुलिस सेना के अफसर को पकड़ कर थाने ले आयी। आरोप है कि पुलिस आर्मी अफसर से सेटलमेंट कराने के लिए 15 हज़ार घूस मांग रहे थी।लेकिन आर्मी अफसर ने घूस देने से मना कर दिया। उसने कहा कि वो इलाज करा देगा लेकिन घूस के नाम पर एक रुपया भी पुलिस को नही देगा। फिर क्या था पुलिस ने कैप्टन को जमकर पीटा।और ये भी ख़याल नही किया कि इन्ही की बदौलत देश सुरक्षित है और हम भी। पीड़ित आर्मी अफसर कह रहा है कि उसने शराब पी है इसलिए उसके खिलाफ कानूनी कार्यवाही करो लेकिन उसका सवाल है कि उसके साथ मारपीट क्यों की जा रही है। लेकिन उसे कौन समझाए कि ये यूपी है और यहाँ सब जायज़ है।
आशीष तिवारी ( आर्मी कैप्टन ) ने बताया --- मैं छुट्टी मे आया हूँ जम्मू मेन तैनात हूँ आर्मी मे कैप्टन हूँ मेरे कार टकरा गई है जिससे टकराई है मैं उसका इलाज कराने को तैयार हूँ लेकिन पुलिस हमे थाने ले आई और सेटलमेंट के लिए 15 हजार घूस मांग रही है माइ फौजी आदमी हूँ घूस नही दिया तो मेरा आई कार्ड पर्स छीं लिया और मारा पीटा मेरे कपड़े फाड़ दिये मैंने शराब पी है लेकिन उसकी कारवाई दूसरी है मारपीट क्यो हो रही है .....

सड़क दुर्घटना की कोई लिखित शिकायत नही मिली है और न ही कोई शिकायत लेकर थाने आया है। अगर ऐसा है तो पुलिस ने आर्मी अफसर को इतना क्यों पीटा और किस जुर्म में। हालाँकि पुलिस ने कैप्टन की इसतरह पिटाई के बाद उसके खिलाफ मुकदमा दर्ज कर उसे जेल भेज दिया है ....
राजेश त्रिपाठी ( सीओ सिटी ) ने बताया कि-- पुलिस मौके पर गई वहा एक गाड़ी मे टक्कर लगी है पुलिस मौके पर पहुंची और इनको थाने पर लाई है अभी कोई तहरीर नाही मिली है ....

-



सम्बंधित खबरें



खबरें स्लाइड्स में


खबरें ज़रा हट के