aapkikhabar aapkikhabar

कंडक्टर की बेटी ने किया कमाल स्टार बनी "साक्षी" को हरियाणा सरकार देगी ढाई करोड़ और सरकारी "नौकरी "



कंडक्टर की बेटी ने किया कमाल स्टार बनी

aapkikhabar.com

नई दिल्ली-रियो ओलंपिक में मेडल जीतकर इतिहास रचने वाली पहलवान साक्षी मलिक को हरियाणा सरकार ने 2.5 करोड़ रु देने का ऐलान किया है। इसके अलावा हरियाणा सरकार ने सरकारी नौकरी देने की भी ऐलान किया।
साक्षी ने जहाँ परिवार का सर ऊँचा किया है वहीँ देश का नाम किया है एक मामूली परिवेश से निकल कर भारत का नाम पूरे विश्व में रोशन किया है |
जानिए क्या है साक्षी कि खूबियाँ 
-साक्षी के पिता सुखबीर मलिक (दिल्ली ट्रांसपोर्ट कॉरपोरेशन) डीटीसी दिल्ली में बतौर कंडक्टर नौकरी करते हैं। 
- जबकि उनकी मां सुदेश मलिक रोहतक में आंगनबाड़ी सुपरवाइजर है।
- मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, साक्षी ने महज 12 साल की उम्र से रेसलिंग की शुरुआत की थी।
- उनकी मां नहीं चाहती थी कि बेटी पहलवान बने। उनका मानना था कि पहलवानों में बुद्धि कम होती है।
- बता दें कि साक्षी के परिवार में उसके दादा भी पहलवान थे। वह उन्हीं के नक्शे कदम पर है।
- बता दें रियो में लंबे इंतजार के बाद भारत की झोली में पहला पदक साक्षी मलिक ने डाला। उन्होंने 58 किलोग्राम वर्ग के क्वार्टर फायनल में किरगिस्तान की टिनीबेकोवा को हराकर ये मैडल भारत के नाम किया।- रियो में साक्षी मलिक ने पदक जीतकर इतिहास रच दिया। साक्षी ओलिंपिक में कुश्ती में पदक जीतने वाली पहली भारतीय महिला पहलवान बन गईं।




-



सम्बंधित खबरें



खबरें स्लाइड्स में


खबरें ज़रा हट के