aapkikhabar aapkikhabar

संतों ने फूंका संतों का पुतला "भाड़े" का संत कहने पर हुए नाराज



संतों ने फूंका संतों का पुतला

aapkikhabar.com

अयोध्या -कहते हैं जात न पूछो साधू की लेकिन धार्मिक नगरी में संत दो खेमो में नजर आ रहे हैं जहाँ जाति का भले ही मतलब न हो मतों की भिन्नता जरुर नजर आ रही है ,अयोध्या में संत ही संत के विरोध में उतर आए हैं। आज समाजवादी संतों ने सरयू तट के किनारे राम जन्म भूमि न्यास के वरिष्ठ सदस्य रामविलास दास वेदांती और रामलला के मुख्य पुजारी आचार्य सत्येंद्र दास का पुतला फूंका। दरअसल समाजवादी संत इन दोनों दो संतो से बेहद नाराज हैं अयोध्या में आयोजित हुए मुलायम सिंह यादव के 77 दिवसीय जन्मदिन समारोह और मुख्यमंत्री अखिलेश यादव के 44 दिवसीय जन्मदिन समारोह में शामिल संतो को रामविलास दास वेदांती ने भाड़े का संत करार दिया था वहीं दूसरी तरफ अयोध्या गोली कांड के मुलायम सिंह यादव के बयान पर रामलला के मुख्य पुजारी आचार्य सत्येंद्र दास ने मुलायम सिंह यादव को देशद्रोही बताया था जिसको लेकर अयोध्या के समाजवादी संतों में आक्रोश व्याप्त है जिसको लेकर आज समाजवादी संतो ने सरयू के किनारे दोनों संतों का पुतला फूंका और कहा कि जब तक वेदांती और सत्येंद्र दास माफी नहीं मांगते आंदोलन जारी रहेगा।


-



सम्बंधित खबरें



खबरें स्लाइड्स में


खबरें ज़रा हट के