aapkikhabar aapkikhabar

दो मंत्रियों की "बर्खास्तगी" के बाद अब मुख्य सचिव दीपक सिंघल भी हटे



दो मंत्रियों की

aapkikhabar.com


लखनऊ-साढ़े चार साल सपा सुप्रीमो मुलायम सिंह यादव समेत करीब आधा दर्जन परिजनों व महत्वपूर्ण मंत्रियों के दबाव में काम करने वाले अखिलेश यादव ने आपरेशन क्लीन शुरू कर दिया है |लगता है अब उनके पिता मुलायम सिंह ने उन्हें अपने तरीके से काम करने की पूरी छुट दे दि है इसी का नतीजा है सोमवार को मुख्यमंत्री ने दागी मंत्री गायत्री प्रजापति व राजकिशोर सिंह को मंत्रीमंडल से बर्खास्त कर दिया अभी 24 घंटे भी नहीं बीते थे कि उन्होंने मुख्य सचिव दीपक सिंघल को हटाकर राहुल भटनागर को इस अहम् पद पर बैठा दिया | गौरतलब है कि सीएम के न चाहते हुए  भी अभी हाल ही में कैबिनेट मंत्री आज़म खां व राज्यसभा सदस्य अमर सिंह के दबाव में दीपक सिंघल को मुख्य सचिव बना दिया गया था |
गायत्री प्रजापति के बेहद करीबी थे सिंघल  
सूबे में अवैध खनन के लिए चर्चा में आये कबीना मंत्री गायत्री प्रजापति का आईएएस दीपक सिंघल से कनेक्शन बेहद करीबी था सूत्रों का कहना है कि खनन माफिया के सिंडिकेट को सिंघल ही संचालित करते थे और यही सरकार व खनन के बीच कि वह कड़ी थे जिससे जिससे सारा कारोबार का धंधा चल रहा था |मुख्य सचिव के तौर पर उन्ही को प्रदेश भर के सभी जिलों से अविध खनन की रिपोर्ट माँगा कर हाईकोर्ट में पेश करना था जिसे वह सही तरीके से अंजाम नहीं दे सके |और कोर्ट ने सरकार को कटघरे में खड़ा कर दिया |अवैध खनन में बर्खास्त मंत्री गायत्री प्रजापति के बाद अब आगे की जांच में दीपक सिंघल का नाम आने की पूरी सम्भावना थी इसी किरकिरी से बचने के लिए सरकार ने अपने बचाव में उन्हें मुख्य सचिव पद से हटा दिया |


-



सम्बंधित खबरें



खबरें स्लाइड्स में


खबरें ज़रा हट के