Top
Aap Ki Khabar

बसपा सुप्रीमो ने माँगा पूर्ण बहुमत की सरकार इशारों में जता दिया ब्राह्मण विरोधी मानसिकता

बसपा सुप्रीमो ने माँगा पूर्ण बहुमत की सरकार इशारों में जता दिया ब्राह्मण विरोधी मानसिकता
X
लखनऊ - कांशीराम परिनिर्वाण दिवस पर बसपा सुप्रीमो मायावती ने जमकर विरोधियों पर निशाना साधा और वहां उपस्थित जनता को सतर्क किया कि वे सतर्क रहें और कहा कि ्पूर्ण बहुमत के साथ स्थापित करना ही सच्ची श्रद्धांजलि होगी । जब से सपा की सरकार बनी है तबसे गुंडे माफियाओं का राज है हत्या अपहरण जमीनों पर कब्जे चरम सीमा पर हैं । उन्होंने कहा की जो गिने चुने लोग पार्टी छोड़ कर गए हैं उनसे कोई असर नहीं पड़ेगा । खचाखच भरे कांसीराम स्मारक में भरे अपने समर्थकों से उत्साहित मायावती ने सभी विरोधियों को लताड़ा । सपा ्शिलान्यास पर खर्च हुए वह गरीबों पर खर्च हो सकता है ।सपा सरकार ने योजनाओं के नाम बदल कर ही काम किया है । सपा सरकार ने यादवों को ही भर्ती किया । कानून व्यवस्था पर सरकार का निराशाजनक काम रहा । नरेंद्र मोदी पर प्रहार किया कि केंद्र में सरकार बनने पर कहा कि मोदी वायदे भूल गए । प्रदेश में राष्ट्रपति शासन लायक माहौल है ।पश्चिमी उत्तर प्रदेश में हाईकोर्ट बेंच का समर्थन किया । भाजपा ने छोटे राज्य के बारे में भी नहीं काम किया । ढाई वर्ष के शासनकाल में वादे नहीं पूरे किये । गरीबों को भी किये गए वेड नहीं पूरे किये गए । मायावती ने लीगों से पूछा कि भाजपा की केंद्र में सरकार बनने के बाद क्या लोगों आटा दाल चावल तेल सस्ते में मिला है । गरीबों को माकन देने के वादे को भी मोदी ने मकान नहीं दिया । मोदी पर आरोप लगाया कि बंद कारखाने भी नहीं शुरू करा पाये केवल गोरखपुर के कारखाने का शिलान्यास किया । कालेधन पर भी मोदी को घेरा कि लोगों के खाते में 15 से 20 लाख लाने का दावा खोखला निकला । जनधन बीमा और पेंशन का लाभ केवल पूंजीपतियों को मिल रहा है । केंद्र सरकार पूंजीपतियों की हितैषी सरकार है । जांच एजेंसियों का इस्तेमाल विरोधियों के खिलाफ प्रताणित करने का आरोप लगाया जा रहा है । मायावती ने कहा कि उन्होंने भ्रस्ट मंत्रियों के खिलाफ जांच कराई । प्रधानमंत्री पर आरोप लगाया कि देश की सीमाएं सुरक्षित नहीं है । विदेशों से अच्छे सम्बन्ध नहीं है । सरकारी नौकरियों में भी आरक्षण पर सही कदम नहीं उठाया । अल्पसंख्यक लोगों के बारे में कहा कि उनके साथ बीजेपी सरकार ने जामिया मिलिया पर भी अल्पसंख्यक दर्ज ख़तम किया जा रहा है । दलित उत्पीड़न की घटनाएं हुई हैं जिसमे गुजरातबक उन और हरियाणा और उत्तर प्रदेश में घटनाये है । अल्पसंख्यकों के लिए सच्चर कमेटी की रिपोर्ट नहीं लागु किया जा रहा है सवर्णों को भी आर्थिक आधार पर आरक्षण दिए जाने की वकालत की है । न कुछ खाएंगे न खाने देंगे बदल गया है । कांग्रेस पर कहा कि आज़ादी के बाद लगातार सरकार में रहने के बाद भी काम नहीं किया सवर्णों के वोट के चक्कर दलितों के साथ गलत किया ब्राह्मण समाज का मुख्यमंत्री कैंडिडेट घोषित किया ।इनको प्रदेश स्वीकार नहीं करने वाला है । किसानों के कर्ज के बारे में कहा कि मोदी सरकार ने बड़े किसानों जो ए सी में बैठ कर खेती करतेहैं उन्ही का कर्ज माफ हुआ है ।
Next Story
Share it