aapkikhabar aapkikhabar

क्या पीएम से बड़े हो गए गोंडा के डीएम



क्या पीएम से बड़े हो गए गोंडा के डीएम

aapkikhabar.com

गोंडा - 500 और 1000 के नोट बंद क्या किये गए आम आदमी भी इस परेशानी में आ गया कि अब उसके रोजमर्रा की जरुरत भी कैसे पूरी होगी लेकिन लोगों को इस बात का सहारा था कि ब्रहस्पतिवार को जब बैंक खुलेंगे तब पीएम और आरबीआई के घोषणा के अनुसार उन्हें 4000 रूपये तक मिल जायेंगे लेकिन इसी बीच गोंडा के डीएम के तुगलकी फरमान ने लोगों की मुश्किलें बढ़ा दी हैं जिसका जबरदस्त विरोध होना शुरू हो गया है |
इस मामले में फौजदारी अधिवक्ता संघ के अध्यक्ष रवि प्रकाश पाण्डेय ने पीएमओ से भी शिकायत की है और जिला प्रशासन के दबाव में बैंक के काम करने का आरोप लगाया है | अधिवक्ता रवि प्रकाश पांडे का कहना है की जिला प्रशासन सत्ता पक्ष के दबाव में उनके काले धन को सफ़ेद करने के लिए आम लोगों को पैसे देने के बजाय काले धन को बदलने के लिए बैंकों पर दबाव बनाया है ।इसलिए इस तरह का तुगलकी फरमान जारी किया है | श्री पाण्डेय का कहना है की बैंकों का संचालन आरबीआई के निर्देश के तहत होता है लेकिन गोंडा के डीएम इन सबसे और प्रधानमंत्री के निर्देशों से भी अपने आपको ऊपर समझते हैं | प्रधानमंत्री द्वारा दिए गए निर्देशों की धज्जियाँ उड़ा कर जिला प्रशासन आम जनता के लिए मुश्किलें पैदा कर रहा है |जिसका हर स्तर पर विरोध किया जाएगा |श्री पाण्डेय ने बताया कि जब वह बैंक में गए तो उनसे कहा गया की केवल 1000 रूपये ही मिल पायेंगे उनके पास जिलाधिकारी का निर्देश है |
हाईकोर्ट अधिवक्ता ने कहा डीएम को कोई अधिकार नहीं 
वहीँ हाईकोर्ट लखनऊ बेंच के वरिष्ठ अधिवक्ता पीआइएल के जानकार अशोक पाण्डेय ने कहा की जिलाधिकारी को कोई ऐसा अधिकार नहीं है की वह पीएम और आरबीआई से अलग कोई निर्देश जारी कर सकें जिलाधिकारी का यह कृत्य पूरी तरह से अनियमित है | 
यह है जिलाधिकारी गोंडा का निर्देश 

********आदेश************भारतीय रिजर्व बैंक द्वारा 08 नवम्बर 2016 की मध्यरात्रि से पांच सौ एवं एक हजार रूपए की पुरानी नोट बन्द करने के निर्णय के उपरान्त वर्तमान में कैश की उपलब्धता, जनसामान्य की सुविधा एवं शांति व्यवस्था के दृष्टिगत जिलाधिकारी महोदय द्वारा निम्नलिखित निर्णय लिया गया है, जिसका अनुपालन जनपद के सभी बैंक एवं जनसामान्य करेगेंः-1. वर्तमान में कैश की उपलब्धता के अनुसार एक्सचेन्ज में सिर्फ हजार रूपए तथा खाताधारक स्वयं के खाते से भी मात्र एक हजार रूपए ही प्राप्त कर सकेेगें।
2. जनपद के सभी बैंकों की शाखाओं में एक्सचेन्ज एवं निकासी का कार्य निर्धारित समयानुसार किया जाएगा।
3. भारतीय रिजर्व बैंक के आदेश के क्रम में जनपद के सभी बैंक शनिवार व रविवार को भी खुले रहेगें।
4. जनसामान्य को एक्सचेन्ज के लिए अनिवार्य रूप से मतदाता पहचान पत्र, आधार कार्ड, ड्राइविंग लाइसेन्स, नरेगा जाॅबकार्ड, पासपोर्ट, पैन कार्ड में से किसी एक की छायाप्रति देनी होगी। सरकारी कर्मचारी अपने विभागीय पहचान पत्र की छायाप्रति दे सकते हैं।
5. सभी बैंकों में एक्सचेन्ज एवं निकासी हेतु अलग-अलग काउन्टर बनाए जाएगें।
6. जनसामान्य को एक्सचेन्ज हेतु भारतीय रिजर्व बैंक द्वारा उपलब्ध कराए गए आवेदन फार्म को भरना होगा। 
7. जमा करने की कोई लिमिट नहीं होगी,कोई भी खाता धारक अपने खाते में अपनी रकम जमा कर सकता है।
8. सभी बैंकों में लोगों की सुविधा हेतु हेल्प-डेस्क बनाई जाएगी।
9. जनसामान्य किसी भी प्रकार की असुविधा होने पर कन्ट्रोल रूम नम्बर 05262-233666 व 233888 पर काॅल करके अपनी शिकायत दर्ज करा सकते हैं अथवा मदद प्राप्त कर सकते हैं।
10. सभी बैंकों में एनाउन्समेन्ट की व्यवस्था होगी।
11. जनसामान्य से अपील है कि वे अपनी-अपनी ब्रान्चों जिनमें उनके खाते हैं, में ही जाएंगे।
12. सभी बैंकों के बाहर एवं एटीएम के बाहर निर्देश अनिवार्य रूप से चस्पा किए जाएगें। 
13. सभी बैंको की शाखाओं पर पुलिस कर्मी सुबह आठ बजे से शाम छः बजे तक ड्यूटी पर तैनात रहेगें। इसके अलावा पुलिस विभाग के अधिकारी व मोबाइल टीमंे सभी मुख्य एवं भीड़भाड़ वाली शाखाओं पर निरन्तर भ्रमणशील रहेगीं।
14. शांन्ति व्यवस्था के दृष्टिगत मोबाइल मजिस्ट्रेटों की तैनाती रहेगी जो भ्रमणशील रहकर शांति व्यवस्था सुनिश्चित करेंगें।
15. बैंकों की शाखाओं पर शांति व्यवस्था में व्यवधान उत्पन्न करने वालों के साथ सख्ती से निपटा जाएगा।इसके अलावा जनसामान्य से अपील की जाती है कि इस कार्य में जिला प्रशासन को अपना बहुमूल्य सहयोग प्रदान करें जिससे कोई भी अराजक तत्व किसी भी प्रकार का अनुचित लाभ न उठा सके।आज्ञा सेजिलाधिकारी गोण्डा



इस बारे में जिलाधिकारी गोंडा आशुतोष निरंजन से बात करने के लिए फोन किया गया लेकिन उनके फोन न उठाने के कारण उनसे इस बारे में जानकारी नहीं हो पाई।

-



सम्बंधित खबरें



खबरें स्लाइड्स में


खबरें ज़रा हट के