Top
Aap Ki Khabar

मोदी का जादू टाईम पर्सन ऑफ द ईयर पोल में सबसे आगे

मोदी का जादू टाईम पर्सन ऑफ द ईयर पोल में सबसे आगे
X
नई दिली -भारत में तो नोटबंदी के बाद जिस तरह से सुधार की आस लगाए लोग मोदी मोदी के नारे लगा रहे हैं वहीँ अब विश्व स्तर पर भी मोदी की लोकप्रियता में जबरदस्त इजाफा हुआ है । टाइम पर्सन ऑफ द ईयर बनने की दौड़ में सबसे आगे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी चल रहे हैं जबकि , ओबामा, ट्रंप सब पीछे हैं । टाइम मैगजीन के अनुसार भारतीय प्रधानमंत्री ने हाल के दिनों में 500 और 1000 रुपये के नोटों को बंद कर दिया और पेरिस क्‍लाइमेट समझौते पर दस्‍तखत किए हैं। इसके चलते मोदी की लोकप्रियता बढ़ी है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी टाइम पर्सन ऑफ द ईयर रीडर्स पोल में सबसे आगे चल रहे हैं। उन्‍हें अब तक 26 प्रतिशत वोट मिले हैं। मोदी बाकी अन्‍य उम्‍मीदवारों से काफी आगे है। अन्‍य लोगों में वीकीलीक्‍स के एडिटर इन चीफ जूलियन असांजे को नौ प्रतिशत, अमेरिका के चुने हुए राष्‍ट्रपति डोनाल्‍ड ट्रंप को 8 प्रतिशत वोट मिले हैं। वोटिंग 4 दिसंबर को समाप्‍त होगी। टाइम मैगजीन की ओर से सात दिसंबर को पर्सन ऑफ द ईयर का एलान किया जाएगा। इस रेस में रूस के राष्‍ट्रपति व्‍लादिमीर पुतिन, अमेरिका की जिम्‍नास्‍ट साइमन बाइल्‍स, उत्‍तर कोरिया के नेता किम जोंग उन और गायिका बेयोंसे नोल्‍स भी शामिल है। अमेरिका के राष्‍ट्रपति पद से रिटायर होने जा रहे बराक ओबामा भी इस सूची में हैं। हालांकि पर्सन ऑफ द ईयर को लेकर आखिरी फैसला मैगजीन के एडिटर्स लेंगे। मैगजीन के अनुसार भारतीय प्रधानमंत्री ने हाल के दिनों में 500 और 1000 रुपये के नोटों को बंद कर दिया और पेरिस क्‍लाइमेट समझौते पर दस्‍तखत किए हैं। इसके चलते मोदी की लोकप्रियता बढ़ी है। वहीं विकीलीक्‍स ने अमेरिका के राष्‍ट्रपति चुनावों के दौरान कई दस्‍तावेजों का खुलासा किया था। वोटिंग में किम जोंग उन और बराक ओबामा को केवल एक फीसदी वोट मिले हैं। वहीं मिशेल ओबामा को दो फीसदी लोगों ने वोट दिए हैं। मैगजीन ने बताया, ”ऐसे व्‍यक्ति या व्‍यक्तियों को चुना जाएगा, जिन्‍होंने हमारी जीवन को सही या गलत रूप से प्रभावित किया है और वे उससे जुड़े हुए हैं जो इस साल हमारे लिए अहम था।” साल 2010 में फेसबुक के सह संस्‍थापक मार्क जकरबर्ग, 2011 में दुनियाभर में हुए प्रदर्शनों में शामिल हुए लोगों को, 2012 में बराक ओबामा, 2013 पोप फ्रांसिस, 2014 में इबोला बीमारी से लड़ने वाले लोग और 2015 में जर्मनी की चांसलर एंजेला मर्केल को चुना गया था। मोदी सोशल मीडिया पर दुनिया में दूसरे सबसे लोकप्रिय नेता हैं। फेसबुक पर उनके 3.70 करोड़ लाइक्‍स, टि्वटर पर 2.40 करोड़ फॉलोअर हैं। इसके अलावा पीएम ऑफिस के 1.20 करोड़ फेसबुक लाइक हैं। वहीँ देश में नोटबंदी के बाद मोदी का बड़े पैमाने पर कुछ दलों द्वारा विरोध किया जा रहा है हालांकि जनता का समर्थन उन्हें नही मिल पा रहा है । सोर्स वेब
Next Story
Share it