Top
Aap Ki Khabar

पीएम मोदी और राहुल गांधी करेंगे पंजाब का सियासी पारा गर्म

पीएम मोदी और राहुल गांधी करेंगे पंजाब का सियासी पारा गर्म
X
नई दिल्ली -इस गुलाबी ढंड में पंजाब के सियासी तापमान बढ़ने वाला है । प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी चुनावी माहौल को गर्म करने वाले हैं । नरेंद्र मोदी व कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी पहली बार एक साथ दहाड़ेंगे। मोदी जहां जालंधर में विपक्षियों पर हमला बोलेंगे वहीं, राहुल अमृतसर के मजीठा में गरजेंगे। दोनों रैलियां दोपहर को होंगी। इस बीच मौसम जिस तरह से करवट ले रहा है उसको देखते हुए रैली की सफलता पर भी संशय बना हुआ है । बृहस्पतिवार को हुई झमाझम बारिश और खराब मौसम से रैलियों में व्यवधान की आशंका भी बनी हुई है। मोदी रैली के बाद दिल्ली चले जाएंगे, लेकिन राहुल 29 जनवरी तक पंजाब में ही रहेंगे। प्रधानमंत्री मोदी की प्रदेश के माझा क्षेत्र में कोई रैली नहीं रखी गई है। दोआबा में भी सिर्फ जालंधर में उनकी रैली हो रही है। इस रैली में पार्टी के पंजाब प्रभारी प्रभात झा, चुनाव प्रभारी व केंद्रीय मंत्री नरेंद्र तोमर सहित राज्य के सभी बड़े नेता मौजूद रहेंगे। दूसरी पारी 29 को 29 जनवरी को प्रधानमंत्री फिर पंजाब आएंगे और लुधियाना व कोटकपूरा (फरीदकोट) में रैली करेंगे। इसी दिन पूर्व प्रधानमंत्री डॉ. मनमोहन सिंह की रैली भी लुधियाना में है। प्रधानमंत्री की रैली की तैयारी को लेकर पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष व केंद्रीय राज्य मंत्री विजय सांपला मोर्चा संभाले हुए हैं। एसपीजी ने डेरा डाला जालंधर के पीएपी ग्राउंड में होने वाली रैली के मद्देनजर पूरे शहर में सुरक्षा व्यवस्था बेहद कड़ी कर दी गई है। एसपीजी (स्पेशल प्रोटेक्शन ग्रुप) व पैरामिलिट्री फोर्स ने रैली स्थल पर डेरा डाल लिया है। उड़ता पंजाब का भी मामला उठ सकता है मजीठा में माना जा रहा है कि राहुल गांधी सबसे ज्यादा नशे के खिलाफ हुंकार भरेंगे, क्योंकि मजीठा विधानसभा क्षेत्र से पंजाब के राजस्व मंत्री विक्रम सिंह मजीठिया अकाली दल के उम्मीदवार हैं। नशे के मुद्दे पर कांग्रेस व आम आदमी पार्टी ने मजीठिया को सबसे ज्यादा टारगेट किया हुआ है। राहुल गांधी अपने पिछले पंजाब दौरों में नशे का मुद्दा उठा चुके हैं। राहुल की रैली में कैप्टन अमरिदर सिंह, करीब दस दिन पहले कांग्रेसी बने नवजोत सिंह सिद्धू सहित कई बड़े नेता मौजूद रहेंगे। मजीठा में भी रैली स्थल दानामंडी के आसपास सुरक्षा व्यवस्था कड़ी कर दी गई है।
Next Story
Share it