Top
Aap Ki Khabar

पीएम नरेंद्र मोदी तो सीएम अखिलेश यादव को देखना चाहते हैं लोग

पीएम नरेंद्र मोदी तो सीएम अखिलेश यादव को देखना चाहते हैं लोग
X

नई दिल्ली - प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और उत्तर प्रदेश के सीएम अखिलेश यादव आज भी लोगों की पहली पसंद बने हुए हैं और राजनीति में यह उत्तर प्रदेश के चुनाव के लिए बड़ी अजीब स्थिति है कि उत्तर प्रदेश के चुनाव में लोग व्धाओट किसे करेंगे । चुनावी सर्वे में सपा को प्रदेश में बढ़त दिखाते हुए बताया जा रहा है । विधानसभा के चुनाव में मुख्य रूप से तीन मुख्य प्रतिद्वंद्वियों के बीच मुकाबला है। एबीपी न्यूज चैनल और सीएसडीएस ने 17 से 23 जनवरी के दौरान राज्य में किए चुनावी सर्वेक्षण में सपा-कांग्रेस गठबंधन को बहुमत के करीब बताया है। हालांकि मुख्यमंत्री अखिलेश यादव की लोकप्रियता में दिसंबर 2016 के मुकाबले मामूली दो प्रतिशत की गिरावट दर्शाई है। वहीं दूसरे स्थान पर भाजपा गठबंधन को दिखाया है। राज्य में बसपा को सर्वेक्षण में तीसरे स्थान पर खिसकता दिखाया गया है। सपा के झगड़े में अखिलेश यादव पार्टी के सर्वोच्च नेता बनकर उभरे हैं। दो फीसदी लोकप्रियता में गिरावट अखिलेश यादव की लोकप्रियता में दो फीसदी की गिरावट आई है। दिसंबर में 28 फीसदी की पसंद अखिलेश थे लेकिन जनवरी में इसी सवाल पर अखिलेश 26 प्रतिशत वोटरों की पसंद रह गए। मायावती पहले की तरह ही 21 प्रतिशत पर तो राजनाथ सिंह 03 प्रतिशत पर बने हुए हैं। दिल्ली में पीएम मोदी तो प्रदेश में सीएम अखिलेश सर्वेक्षण के मुताबिक मुख्यमंत्री अखिलेश यादव और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी दोनों से लोग संतुष्ट हैं। सर्वेक्षण की मानें तो प्रधानमंत्री के रूप में मोदी और मुख्यमंत्री के रूप में अखिलेश से संतुष्ट लोगों की प्रतिशत समान है। गठबंधन से ज्यादा फायदा सपा को ही होता हुआ दिख रहा है ।सपा-कांग्रेस के गठबंधन से फायदे के मामले में कोई स्पष्ट राय नहीं दिखी। करीब 43 प्रतिशत लोगों ने इस पर अपनी कोई राय ही नहीं दी। लेकिन 37 प्रतिशत लोगों ने एसपी को फायदा बताया। विधानसभा चुनाव 2017 अपने आप में अनूठा है ।सपा में इतनी उठापटक के बावजूद अखिलेश की लोकप्रियता उनको मजबूत आधार दे सकती है वहीँ कोई बड़ी बात नहीं की मोदी लहर का दावा करने वाली बीजेपी पर सपा का गठबंधन भारी पड़ सकती है ।


Next Story
Share it