Top
Aap Ki Khabar

प्रधानमन्त्री आवास योजना के नाम पर हुई ठगी

प्रधानमन्त्री आवास योजना के नाम पर हुई ठगी
X

लखनऊ: कैशलेश ट्रांजेक्शन के नाम पर कार्ड स्वैप कर उसका क्लोन बनाकर ठगी करने वाले अन्तर्राज्जीय गिरोह का लखनऊ की साइबर सेल पुलिस ने भंडाफोड़ किया है। पुलिस ने गिरोह में शामिल 7 ठगो को लखनऊ के कोतवाली नाका इलाके से गिरफ्तार करने का दावा किया है। पुलिस ने ठगो के पास एसीआर चिप कार्ड डाटा रीडर, स्वैप मशीन और पीओएस मशीन के साथ ही लैपटॉप और कैनोपी भी बरामद की है। पुलिस के मुताबिक आरोपियों ने लखनऊ और यूपी समेत पूरा देश में सैकड़ो लोगो को ठगी का शिकार बना चुके है।


प्रधानमंत्री आवास योजना के नाम पर कैनोपी लगाकर भराएँ फॉर्म--
  • थाना अलीगंज के कपूरथला में कुछ दिन पहले प्रधानमंत्री आवास योजना के नाम पर कैनोपी लगाकर लोगो से फॉर्म भरवाए गए थे। फॉर्म भरवाने के नाम पर लोगो से ऑनलाइन 25 रूपये शुल्क भी माँगा गया था। आवास की चाहत में जब आवदेकों ने फॉर्म भरा तो उनके एटीएम और डेबिट कार्ड से 25 रूपये ऑनलाइन अदाएगी भी कर दी थी। ऑनलाइन ट्रांजेक्शन के दौरान ही ठगो ने बेहद शातिर तरीके से इलेक्ट्रॉनिक डिवाइस लगाकर आवेदकों के कार्ड को क्लोन बना लिया था। बाद में इसी क्लोन की मदद से आरोपियों ने लोगो के खाते से रूपये उड़ा लिए थे। इस गोरखधंदे का शिकार हुए लोगों की शिकायत पर थाना अलीगंज में ठगी का मुकदमा दर्ज कराया गया था।
7 ठगो को लखनऊ के कोतवाली नाका इलाके से गिरफ्तार --
  • दरअसल जिस प्रधानमंत्री आवास नाम के खुलेआम फॉर्म भरवाए जा रहे थे वो ही पूरी तरह से फर्जी है। ऐसी तमाम जानकारी और दर्ज मुक़दमे की जाँच के बाद ही पुलिस ने मामले में शामिल 7 ठगो को लखनऊ के कोतवाली नाका इलाके से गिरफ्तार करने का दावा किया है। पुलिस की माने तो आरोपियों ने कार्ड की क्लोनिंग कर पूरे देश में लोगों को अपनी ठगी का शिकार बनाया है। पुलिस गिरोह के बारे में और भी ज्यादा पड़ताल की बात कर रही है। पकडे गए ठगो की पहचान दिल्ली निवासी रुपेश शाह, जनपद भदोही निवासी यश गुप्ता, पंजाब निवासी जसमिंदर सिंह, मनदीप सिंह, गुरप्रीत सिंह हरवेंद्र सिंह और गुरमुख सिंह के रूप में हुई है। पुलिस ने ठगो के पास एसीआर चिप कार्ड डाटा रीडर, स्वैप मशीन और पीओएस मशीन के साथ ही लैपटॉप,कैनोपी और भारी मात्रा में फर्जी दस्तावेज और अन्य इलेक्ट्रॉनिक डिवाइस भी बरामद किया है।
जनता से ठगे करोड़ो की रकम--
  • एसएसपी का ये भी कहना है की पकड़े गए लोग 12 पास के छात्र है और कई सालो से सिर्फ अय्याशी के लिए कई लोगो से ठगी करते थे और प्रदेश के कई जिलों में ठगी कर वहां से फरार हो जाते थे साथ ही उन्होंने ये भी बतया की ये लोग प्रधानमन्त्री आवास योजना के साथ साथ कई और मामलो पर भी लोगो से ठगी करते थे , एसएसपी दीपक कुमार का कहना है की इनलोगो के पास जनता से ठगी गयी करोड़ो की रकम इन्होने अपने अलग अलग खातों में जमा कर रखी है. पीसीआर लेने के बाद इनसे वो रकम निकलवाकर आयकर विभाग मिलकर उसे सरकारी ख़ज़ाने में जमा की जाएगी ||


Next Story
Share it