Top
Aap Ki Khabar

नेता ने अपनाया भगवा जम कर की गुंडागर्दी

नेता ने अपनाया  भगवा जम कर की गुंडागर्दी
X
पीलीभीत (जीतेन्द्र गंगवार / शारिक परवेज) -सरकार भले ही बदल गई है लेकिन कुछ मौका परस्त लोग जो पहले सत्ता के साथ थे और विरोधी दल को कोसते नजर आते थे वही अब फिर से सत्ता के साथ नजर आते हैं |
आज हम आपको पीलीभीत से एक ऐसे नेता की गुण्डाई दिखा रहे जो बहुत बडा मौका परस्त है। सपा सरकार में भी मजे और अब भाजपा सरकार में भी। नेता जी को दबंगई की आदत बहुत है जिसके लिये वो मशहूर है नेता जी को बिना पद के ब्लाक प्रमुख बीसलपुर लिखना भी बहुत पसंद है। यह नेता और कोई नहीं बल्कि बीसलपुर ब्लाक प्रमुख तारावती गंगवार के पुत्र व मौजूदा में जिला पंचायत अध्यक्ष पद की दावेदारी करने वाली शोभना देवी के देवर रत्नेश गंगवार है।
सपा की सरकार में में भी बना रखा था रसूख
5 साल यह सपा सरकार में समाजवादी के रूप में सक्रिय रहे जैसे-तैसे अरमान एक विधायक बनने का था तो साम-दाम-दंढ-भेद से सपा की लिस्ट में उनका नाम प्रत्याशी के रूप में शिवपाल ने घोषित भी किया लेकिन समाजवादी पार्टी परिवार की आपसी रार में इनका टिकट कट गया। लेकिन बाद में कांग्रेस से गंठबंधन के बाद बीसलपुर विधानसभा की सीट कांग्रेस के खाते में चली और नेता जी ने भाजपा में शामिल होते हुये मौजूदा विधायक रामसरन वर्मा का दामन थामा क्योंकि उन्हे अपनी ब्लाक प्रमुखी बचानी थी और जिला पंचायत अध्यक्षी लेनी थी। आपको बता दे कि पीलीभीत जिला पंचायत अध्यक्ष पद सुरक्षित महिला है और इनकी भाभी शोभना देवी सुरक्षित श्रेणी वर्ग में आती है।
जिला पंचायत पर हंगामा काटा
भाजपा सरकार बनने के बाद नेता रत्नेश लगातार जिला पंचायत अध्यक्ष पद का अविश्वास प्रस्ताव लाने में जुट गये थे। कई बार उन्होने सदस्यों की खरीद-फरोख्त भी की। लेकिन पार्टी हाईकमान ने जब पूर्व सपा विधायक पीतमराम की पुत्रवधु आरती देवी जिला पंचायत अध्यक्ष के खिलाफ कोई भी प्रस्ताव लाने से मना कर दिया तो रत्नेश पीछे हटना पडा। रत्नेश पीछे तो हटे लेकिन अपने दिल में कसक थी। उन्होने कई सदस्यों को खरीदा भी था। ऐसे में बीते दिन जिला पंचायत में वार्षिक बैठक हुयी बैठक में कई प्रस्ताव पास भी हुये लेकिन मौजूदा भाजपा नेता रत्नेश गंगवार ने अपना आपा खो दिया। भाजपा नेता ने सदस्यों को दिये गये पैसो वसूलने के लिए दबंगई दिखाई र जबकि सदस्य पैसा लेने की बात से मुकर रहे है। भाजपा नेता रत्नेश गंगवार दर्जनो दबंग समर्थको के साथ आये और जिला पंचायत का घेराव कर दिया और जिन सदस्यो ने अविश्वास प्रस्ताव के पक्ष में पैसे लिये थे उनको हडकाने लगे और गालीगलौज करने लगे। गनीमत यह रहा कि मीडिया के लोग वहाॅ पर पहुच गये और एक बडी घटना टल गयी क्योकि मीडिया के लोग विडियो बनाने लगे थे यह देख कुछ दबंगो ने मीडिया को भी दबंगई दिखाई लेकिन भाजपा नेता की सिट्टी-पीट्टी गुम हो गयी और सदस्यो को धमकी देकर रफूचक्कर हो गये इतना कुछ हो गया लेकिन प्रशासन मूक दर्शक बना रहा।
देखिये यह धमकी देने वाली वीडियो भाजपा नेता रत्नेश गंगवार पीले रंग के कुर्ते में है। नीले कुर्ते में हडकाने वाला शक्स मीडिया को धमका रहा है।

Next Story
Share it