Top
Aap Ki Khabar

देखें ऑपरेशन भगवान् - महिला डॉक्टर की करतूत आप की खबर के कैमरे में हुई कैद

देखें ऑपरेशन भगवान् - महिला डॉक्टर की करतूत आप की खबर के कैमरे में हुई कैद
X

रिपोर्ट - शारिक परवेज़ - पीलीभीत - डॉक्टर को हम धरती का भगवान् कहते है और अगर वही भगवान् मरीजों से पैसे वसूले और कमीशन खाए तो आप क्या कहेगें, योगी जी जरा अपने स्वास्थ्य सेवा प्रादाताओं पर भी ध्यान दे मासिक वेतन के अलावा इनकी आय कमीशनखोरी व प्राईवेट चिकित्सा भी बन गयी है। ताजा मामला पीलीभीत के सामुदासिक स्वास्थ्य केन्द्र (सी.एच.सी), बिलसण्डा से आ रहा है। यहाॅ 4 साल पहले संविदा पर डा0 सुचि गुप्ता तैनात हुयी थी। लेकिन डा0 सुचि की कार्यशैली कुछ और ही है। जब वो महिला मरीजो को देखती है तो दवा के 2 पर्चे बनाये जाते है। पहले स्ट्रिंग में पहला पर्चा तो अस्पताल की ओपीडी का बनता है। जिसमें नाम मात्र को सरकारी दवाएं लिखी जाती है। इसके बाद जब मरीज बाहर की दवाओं के बारे में पूछता है 50 रू0 प्राईवेट फीस लेकर दूसरा पर्चा उनका फारमेसिस्ट देता है और एक निर्धारित मेडिकल स्टोर बताते हुये कि दवा सिर्फ वहीं मिलेगी पर भेजा जाता है। यहाॅ अब दूसरा स्ट्रिंग होता है जिसमें मरीज मेडिकल स्टोर पर पहुॅचता, सबसे बडी बात तो है कि मेडिकल स्टोर पर अनुभवी फार्मेसिस्ट द्वारा ही दवाएं दी जाती है तो यहाॅ यह बच्चे दवाएं दे रहे है। उसके बाद मेडिकल स्टोरकर्मी स्वंय बता रहे है कि सरकारी डाक्टर का उनसे कमीशन तय है और वो उन्हे कमीशन देते है इसलिये मेडिकल स्टोर पर सिर्फ उन्ही की दवाएं बेची जाती है। पूरे मामले में जब सीएमओ डा0 ओ. पी. सिंह से बात करनी चाही तो वो मीडिया पर झल्ला गये बोले जो खबर चलाना हो चलाओ नहीं देता बाईट


Next Story
Share it