Top
Aap Ki Khabar

स्वछता मिशन के लिए प्रधान ने पेश कर दी मिशाल

स्वछता मिशन के लिए प्रधान ने पेश कर दी मिशाल
X
पीलीभीत शारिक परवेज - एक ऐसी पहल, एक ऐसा कदम जिसमें उडा दिये सबके होश। शायद आजतक किसी ने ग्राम प्रधान के अधिकारों का एक्ट पढा ही नहीं होगा। लेकिन इस नौजवान ग्राम प्रधान ने पंचायत एक्ट पढा और पालन भी किया। यूॅ तो तमाम पढे-लिखे ग्राम प्रधान अपनी प्रधानी चला रहे है लेकिन बहुत कम ही ग्राम प्रधान ऐसे होते है जो जनता की सेवा के लिये ही काम करते है। आइये देखिये पीलीभीत से यह खास रिपोर्ट सिर्फ हमारे साथ।
आईये आज हम आपको दिखाते एक ऐसे ग्राम प्रधान से जिसने एक ऐसी नज़ीर दी है कि बाकी के और ग्राम प्रधानों को इससे सीख लेनी चाहिये। आपकों बता दे कि पीलीभीत टाईगर रिजर्व से सटे सैकडों ऐसे गांव है जहाॅ बाघ व अन्य जंगली जानवरों को खतरा हमेशा मडंराता रहता है। बीते 10 माह में बाघ 15 लोगों को अपने मुॅह का निवाला बना चुका है। जंगल के आसपास की कुछ घटनाएं ऐसी थी कि लोग खेतों में या जंगल किनारे जब शौच के लिये जाते थे तभी उनके साथ घटनाएं होती थी। यह है जनपद पीलीभीत की कलीनगर तहसील की ग्राम पंचायत शाहगढ के ग्राम प्रधान सुखविन्दर सिंह उर्फ सीटू इन्होने ऐसी नज़ीर पेश की है कि जिला नहीं प्रदेश नहीं बल्कि पूरे देश के ग्राम प्रधानों को इनसे सीख लेनी चाहिये। जंगल किनारे बसे गांवों यह प्रधान नौजवान है और देश के लिये कुछ करना चाहते है। इनके क्षेत्र में बाघ और अन्य जंगली जानवरों की दहशत प्रार्य है। पहली बार इस ग्राम प्रधान ने ऐसा किया जो शायद ही किसी ने सोचा होगा। प्रधान जी ने खुले में शौच को जाने वालों के खिलाफ एक अभियान चलाया। रोजाना सुबह प्रधान जी अपने घर से निकल कर अपने क्षेत्र का दौरा करते थे और खुले में शौच को जाने वालों को ढूंढते थे। अभी कुछ ही दिन पहले प्रधान जी को अपनी ग्राम पंचायत के गांव गजरौला खुर्द में एक नवयुवक मिल गया जिसके घर में शौचालय भी था लेकिन आदत से मजबूर खुले में शौच को जा रहा था। बस प्रधान सुखविन्दर ने ग्राम पंचायत एक्ट के तहत खुले में शौच करने वालों के खिलाफ 500 रू0 का जुर्माना डाल दिया। बात यहाॅ 500 रू0 की नहीं है बल्कि एक मिसाल की है जो इस ग्राम प्रधान ने पेश की है। उन्होने बताया कि स्वच्छ भारत अभियान मिशन के तहत उन्होने यह कार्यवाही की है और वो यह चाहते है कि पीलीभीत, नहीं उ0प्र0 नहीं भारत देश नहीं बल्कि पूरे विश्व के प्रधान इसी तर्ज पर करे और स्वच्छ भारत अभियान को बढावा दे। इनके इस सराहनीय कार्य और मिसाल पेश करने पर जिलाधिली पीलीभीत ने इन्हे प्रशस्ति पत्र व ट्राफी देकर सम्मानित किया साथ ही राज्यपाल से भी निवेदन किया है कि वो इन्हे सम्मानित करें जिससे प्रदेश के अन्य ग्राम प्रधान भी प्रेरित होकर ऐ

Next Story
Share it