aapkikhabar aapkikhabar

साढ़े तीन लाख क्यूसिक पानी छोड़े जाने से कई दर्जन गांव डूबे, घरों में भरा पानी



साढ़े तीन लाख क्यूसिक पानी छोड़े जाने से कई दर्जन गांव डूबे, घरों में भरा पानी

aapkikhabar.com

सीतापुर - पहाड़ों पर हुई भारी बारिश के बाद नेपाल ने बनवसा बैराज से साढ़े तीन लाख क्सूसिक पानी छोड़ दिया है। जिससे नदियां उफना गई है। दर्जनों गांवों में पानी घुस गया है। लोग गांव छोड़ने लगे है। खाना सहित पानी और की भी समस्या उनके आगे आ खड़ी हुई है। प्रशासन से अभी तक कोई भी मदद ग्रामीणों को नहीं मिली है। वह खुद के उपायों से बचने का प्रयास कर रहे है। आलम यह है कि जब रहने को घर ही नहीं बचा है तो वह सड़कों की ओर कूच करने लगे है और डेरा डालने लगे है।  


गौलोक कोड़र के दुर्गापुरवा गाँव घाघरा नदी का पानी घरों में घुस गया है। नदी का कटान करनें का सिलसिला तेज हो रहा हैं। गौलोक कोड़र मे घाघरा नदी भी कटान कर रही है। दुर्गापुरवा में दर्जनों घर घाघरा नदी में अध्दकटे लटक रहे है। ग्रामीण अपने अपने आशियानो को बचाने के प्रयास मे लगे हुए हैं।
गाँव के ग्रामीण नावो का ही सहारा लेकर आते जाते है। घाघरा नदी का पानी गौलोक कोड़र के एक दर्जन मजरो की तरफ पानी तेजी से बढ रहा है। वही गाँवो के ग्रामीण घाघरा नदी को बढते हुए जलस्तर को देखकर भयभीत हो रहें है। जैसे कोनीं, फौजदार, दुर्गापुरवा, पासिनपुरवा, लोधपुरवा, मरेलीपुरवा, खुशीपुरवा, रामलालपुरवा, परमेश्वरपुरवा, गौढी, गार्गीपुरवा, लालापुरवा, पच्चीसा गाँव के सम्पर्क वह गाँवो की तरफ घाघरा नदी का पानी तेजी से बढ रहा है।


रिपोर्ट सुमित बाजपेयी


-



सम्बंधित खबरें



खबरें स्लाइड्स में


खबरें ज़रा हट के