Top
Aap Ki Khabar

इन वजहों से बच्‍चें झूठ बोलने के लिए हो जाते है मजबूर

इन वजहों से बच्‍चें झूठ बोलने के लिए हो जाते है मजबूर
X

डेस्क-(पीयूष त्रिवेदी)जैसे जैसे बच्‍चें किशोरावस्‍था में कदम रखते है पैरेंट्स को उनके साथ फ्रेंडली बिहेव करना चाहिए क्‍योंकि ये उम्र बहुत ही सेंसेटिव होती है इस उम्र में ही बच्‍चें खुलने लगते है या डरने लगते है. इस उम्र की नाजकुता को समझते हुए पैरेंट्स को चाहिए कि वो बच्‍चों के साथ फ्रैंडली रिश्‍ता कायम करें. क्‍योंकि ये ही वो उम्र है जब बच्‍चें अक्‍सर झूठ बोलना शुरु करते हैं. ये झूठ शुरु में बोलना तो ठीक है लेकिन बाद में धीरे धीरे यह उनकी आदत बन जाती है जो ताउम्र उनके साथ रहती है.
देखे आगे की स्लाइड्स

Next Story
Share it