Top
Aap Ki Khabar

अगर चाहिए पुत्र और वो भी अद्भुत क्षमतावान तो इन नक्षत्रों में दे जन्म

अगर चाहिए पुत्र और वो भी अद्भुत क्षमतावान तो  इन  नक्षत्रों में दे जन्म
X

डेस्क-(पीयुश त्रिवेदि)वैदिक ज्योतिष में 27 नक्षत्रों का वर्णन आया है और प्रत्येक नक्षत्र की अपनी प्रकृति, स्वभाव, गुणधर्म और विशेषता होती है. इन 27 नक्षत्रों में 6 नक्षत्र गंडमूल नक्षत्र कहे गए हैं. यानी माना जाता है कि इन छह नक्षत्रों में यदि कोई बच्चा जन्म लेता है तो 27 दिन पश्चात जब पुनः वही नक्षत्र आता है तो उसकी शांति करवाना पड़ती है।. यदि शांति नहीं करवाई जाती है तो वह न केवल उस बच्चे के लिए घातक होता है बल्कि उसके माता-पिता के लिए भी संकटपूर्ण स्थिति बनाता है. लेकिन ज्योतिष के कुछ विद्वानों का मानना है कि छह नक्षत्र गंडमूल होते जरूर हैं लेकिन इनमें जन्म लेने वाले बच्चे में अद्भुत क्षमता होती है. वह मेहनती और संघर्षों के बाद अतुलनीय संपत्ति का स्वामी बनता है.
देखे आगे की स्लाईड

Next Story
Share it