aapkikhabar aapkikhabar

नशे कि हालत में पिता ने बेटी के साथ किया ऐसा



नशे कि हालत में पिता ने बेटी के साथ किया ऐसा

aapkikhabar.com

डेस्क-हर रोज पापा शराब पीकर घर अाते थे। तीमम्मी हर रोज पापा को शराब पीने से टोक थी इस बात पर रोज मम्मी पापा की लड़ाई होती थी। कभी कभी तो पापा शराब के नशे में इतने धुत हो जाते थे क‌ि मम्मी क मारते थे। शराब पीने के बाद बच्चे अपने मम्मी और पापा की लड़ाई देखते हैं। मासूमो के मुंह से बरबस ही न‌िकल पड़ता है जीना है तो पापा शराब मत पीना।महोबा के बुंदेलखंड नवोदय महाविद्यालय पचपहरा में नशा मुक्ति अभियान के तहत नुक्कड़ नाटक का आयोजन किया गया। जिसमें छात्राओं ने जीना है तो पापा, शराब मत पीना गीत के साथ शानदार प्रस्तुति दी।गीत और नाटक के माध्यम से नशे की लत से होने वाले दुष्परिणाम बताए गए


इस दौरान छात्राओं ने लोगों को नशा मुक्ति की शपथ दिलाई।



नशा मुक्ति अभियान कार्यक्रम के मुख्य अतिथि नगर पंचायत अध्यक्ष मटौध सुधीर सिंह व गरुणदास स्कूल की प्रधानाचार्या अनीता सिंह ने संयुक्त रूप से मां सरस्वती के चित्र पर माल्यार्पण के साथ किया। इस मौके पर महाविद्यालय के प्राचार्य डा. उमाकांत त्रिपाठी ने कहा कि युवा पीढ़ी तेजी से नशे की लत में है। जिससे तमाम परिवार बर्बादी के मुहाने पर खड़े है


- प्रेम कुमार



सम्बंधित खबरें



खबरें स्लाइड्स में


खबरें ज़रा हट के