Top
Aap Ki Khabar

आधार मोबाइल लिंकिंग देखिए किस पर है मोबाइल कंपनियों को भरोषा

आधार मोबाइल लिंकिंग देखिए किस पर है मोबाइल कंपनियों को भरोषा
X

डेस्क-सुप्रीम कोर्ट द्वारा मोबाइल फोन को आधार से जोड़े जाने के निर्देश के बाद अब समस्या यह है कि किस तरह से आधार को मोबाइल से लिंक किया जाए अभी तक करीब 71.24 करोड़ मोबाइल नंबर दोनों नए कनेक्शन और मौजूदा और 82 करोड़ बैंक खातों को 12 अंकों वाले बॉयोमीट्रिक पहचानकर्ता आधार से जोड़ा गया है। सरकार द्वारा यह सारी कवायद इसलिए की जा रही है कि हर ट्रांजैक्शन पर सरकार की बनजर रहे और डिजिटल ट्रांजैक्शन को बढ़ावा मिले |बैंक खातों के साथ आधार को जोड़ने से मनी लॉन्ड्रिंग नियम 2005 की रोकथाम के आधार पर किए गए संशोधनों के आधार पर किया जा रहा है। आधार संख्या को मोबाइल नंबर के साथ जोड़कर लागू किया गया है सुप्रीम कोर्ट के 6 फरवरी, 2017 के आदेश के अनुसार, इलेक्ट्रॉनिक्स और आईटी के लिए मंत्री रवि शंकर प्रसाद ने 31 दिसंबर 2017 तक 71.24 करोड़ मोबाइल नंबर नया और पुनः सत्यापित और 82 करोड़ बैंक खातों को आधार से जोड़ा गया है। मौजूदा मोबाइल उपभोक्ताओं के आधार पर आधार आधारित पुन: सत्यापन किया जा सकता है 31 मार्च, 2018 तक दूरसंचार विभाग द्वारा प्रसाद ने 22 दिसंबर, 2017 के उत्तर में कहा।

  • सभी मोबाइल फोन उपयोगकर्ताओं को आधार कार्ड के साथ अपने मोबाइल नंबर को फिर से सत्यापित करना होगा।
  • संबंधित टेलिकॉम ऑपरेटर के स्टोर पर जाकर ई-केवाईसी समारोह को पूरा करने के लिए यह कवायद पूरा किया जा सकता है।
  • एक ग्राहक को अपने आधार कार्ड को उसी के लिए ले जाना होगा।
  • आधार कार्ड नंबर की पुष्टि के लिए दूरसंचार ऑपरेटरों फिंगरप्रिंट के माध्यम से प्रमाणीकरण पर भरोसा कर रहे हैं।

मोबाइल नंबर जोड़ने का दूसरा तरीका ओटीपी
फिर से सत्यापन के लिए आधार कार्ड को मोबाइल नंबर जोड़ने का दूसरा तरीका ओटीपी या एक बार पासवर्ड के माध्यम से है। ओटीपी को यूआईडीएआई से अपने मोबाइल नंबर पर भेजा जाता है। हालांकि, ओटीपी केवल कार्ड के लिए आवेदन करने के समय आधार पर पंजीकृत मोबाइल नंबर पर भेजा जाता है। आधार से जुड़े मोबाइल नंबर को अपडेट करने के लिए एक उपयोगकर्ता को एक आवेदन केंद्र जाना होगा। इस प्रक्रिया को ऑनलाइन नहीं किया जा सकता है|

Next Story
Share it