Top
Aap Ki Khabar

श्रीरामानंदाचार्य ने रामभक्ति के माध्यम से समाजिक क्रांति का किया सूत्रपातः महंत नृत्य गोपाल दास

श्रीरामानंदाचार्य ने रामभक्ति के माध्यम से समाजिक क्रांति का किया सूत्रपातः महंत नृत्य गोपाल दास
X

अयोध्या:(अभिषेक गुप्ता)जगदगुरू श्रीरामानंदाचार्य सनातन धर्म के सुमेरू और सामाजिक समरस्ता के महान पोषक जिनकी छाया से आज रामानंद सम्प्रदाय ही नही सम्पूर्ण विश्व का हिन्दू समाज ज्ञान, भक्ति और वैराग्य से अवलौकित हो रहा है। यह विचार श्रीराम जन्मभूमि न्यास अध्यक्ष और मणिराम दासजी छावनी के महंत नृत्य गोपाल दास जी महाराज ने 8 जनवरी को श्रीरामानंदाचार्य जी की 718 वी जयंती के उपलक्ष्य मे आयोजित कार्यक्रम की जानकारी देते हुये व्यक्त किया।

उन्हो ने कहा आद्य जगद्गुरू श्रीरामानंदाचार्य जी महाराज का जीवन समाजिक उत्थान और हिन्दू समाज के लिए अनुकरणीय रहा। श्रीरामानंदाचार्य ने रामभक्ति के माध्यम से एक सामाजिक क्रांति का सूत्रपात किया। सामाजिक विषमताओं और बाहरी आडम्बरों में जकड़े समाज में पुनरुत्थान की ओर पहला कदम बढ़ाने वाले रामानंदाचार्य थे।

रामभक्ति के माध्यम से उन्होंने समाज के विभिन्न वर्गों में सामाजिक समरसता तथा समन्वय की भावना पैदा करने का एक सफल प्रयास किया। उन्होने कहा आज ऐसे महान पूज्य संतो के कारण ही हिन्दू धर्म संस्कृति सुरक्षित है।उनके योगदान को विस्मृत नही किया जा सकता है।

उन्होने कहा जगद्गुरू की जयंती पर सम्पूर्ण रामानंद सम्प्रदाय उन्हे सैकड़ो वर्षो से अपनी श्रद्धानिवेदित करता आ रहा है।सम्पूर्ण भारत मे यह कार्यक्रम व्यापक रूप से मनाया जाना चाहिए ताकि वर्तमान और आने वाली पीढिया अपने पूर्वजो द्वारा राष्ट्र और समाज के प्रति किये गये अवदान का स्मरण कर सके।

उन्हो ने बताया इस वर्ष 718 वी जयंती पर आद्य जगद्गुरू श्रीरामानंदाचार्य जी महाराज की भव्य शोभायात्रा सोमवार 8 जनवरी को सायंकाल 3 बजे गाजे बाजे के साथ निकाली जायेगी। शोभा यात्रा परम्परागत रूप से नगर के तपस्वी छावनी मार्ग से दिगंबर अखाड़ा, हनुमानगढ़ी, रामकोट ,अशर्फीभन से मुख्यमार्ग होते हुये नयाघाट से चलकर मणिराम दासजी की छावनी पर आकर पूर्ण होगी।कार्यक्रम की तैयारी प्रारंभ हो गई है।

Next Story
Share it