aapkikhabar aapkikhabar

अगर आपकी उम्र 25 हो चुकी है तो छोड़ दे ये आदत वरना हो सकता है नुकसान



अगर आपकी उम्र 25 हो चुकी है तो छोड़ दे ये आदत वरना हो सकता है नुकसान

इन आदतों को छोड़ दे

डेस्क- आप 25 के हैं या होने जा रहें हैं  तो बेहतर है कि आप खुद में लड़पन के दौरान घर किये हुए अटपटे गुणों को दूर कर कुछ मौलिक परिवर्तन करें। 25 की आयु कई नज़रिये से बेहद महत्वपूर्ण होती है तो चलिये जानते हैं कुछ कि वे कौंन सी आदतें हैं जिन्हें 25 का होने से पहले छोड़ देना ही बेहतर होता है। 


पढ़े:- इस जगह पर दुल्हन नही यूज़ कर सकती है फेसबुक व्हाट्स ऐप



  • बुरी आदतें और कुछ बुरे लोग आपको बेहद नुकसान पहुंचा सकती हैं तो ऐसी आदतों और ऐसे लोगों से जितना हो सके दूर रहने की कोशिश करें दिन-रात नकारात्मक लोगों के संपर्क में रहने से हमारी सोच पर गलत असर  पड़ता है सही लोगों की संगत में रहें वो आपके जिंदगी को हंसी-खुशी के साथ जीना सीखने में मदद करेंगे। 

  • सबसे पहले तो गुस्से के मामलें में अपने और किसी अन्य के बारे में एक्सक्यूज देना बंद कर दें क्योंकि इससे लगता है कि आप एक तरह से यह एक्सप्लेनेशन दे रहे हैं कि क्यों दूसरे लोग आपका गुस्सा झेलें या फिर समाजिक तौर पर लोगों को आपके व्यवहार को एक्सेप्ट कर लेना चाहिए आपके इस एक्सक्यूज से यह दिक्कत होगी कि आप कभी अपने इस नकारात्मक भाव को आपने अंदर से खत्म करने की कोशिश नहीं कर पाएंगे और इस आदत के चलते आपको बहुत नुकसान उठाना पड़ सकता है।


पढ़े:- बालो को मजबूत और घने बनाने के लिए अपनाये ये आसान से तरीके



  • कई लोग उम्र के इस पड़ाव में ऐसे होते हैं जो किसी मुश्किल काम को करने से पहले ही मान लेते हैं कि उनसे ये फला काम नहीं होगा उनके दिमाग में "मैं यह नहीं कर सकता हूं" वाक्य घर कर जाता है लेकिन हर कोई ऐसी सोच ले तो कभी कोई काम या नई चीज दुनिया में हो ही न तो मैं नहीं कर सकता को खुद से दूर करें।

  • अगर आपको ज्यादा या हर छोटी बात-बात पर गुस्सा आता है तो दूसरों से राय लें गुस्सा करना किसी चीज़ का समाधान नहीं बल्कि गुस्सा करने से सोचने समझने की शक्ति कम हो जाता है और लोग सही निर्णय नहीं ले पाते हैं योग और ध्यान करें इससे गुस्सा कम करने में मदद मिलेगी।

  • अकसर लड़के कॉलेज लाइफ में सिगरेट शराब आदि का सेवन करने लगते हैं लेकिन अब ये उम्र आ गयी है कि आप अपने फैफड़ों और लिवर की परवाह करना शुरू कर दें समय आ चुका है कि सुबह की शुरूआत हैंगओवर की जगह एक्सरसाइज़ के साथ की जाए। 


 


- शेख मो अब्दुल्ला



सम्बंधित खबरें



खबरें स्लाइड्स में


खबरें ज़रा हट के