aapkikhabar aapkikhabar

'जय माता दी' बुलवाने के लिए युवक को लाठियों से पीटा



'जय माता दी' बुलवाने के लिए युवक को लाठियों से पीटा

इस तरह से पीटा युवक को

डेस्क- मुजफ्फरनगर में एक दलित युवक की देवी-देवताओं के पोस्टर फाड़ने के आरोप में कुछ लोगों ने लाठी-डंडों से पिटाई कर दी लोगों का आरोप है कि दलित युवक ने देवी-देवताओं का पोस्टर फाड़ा है और भगवान का अपमान किया है पोस्टर फाड़ने का आरोप लगाते हुए लोगों ने युवक से 'जय माता दी' के नारे लगवाए और गालियां भी दी यह मामला तब सामने आया जब इस घटना से जुड़ा एक वीडियो वाइरल हो गया इस वायरल वीडियो के बाद पुलिस ने पिटाई करने वाले युवकों के खिलाफ धारा 307,295 ए करने का इरादा और एससी-एसटी अधिनियम और आईटी अधिनियम के तहत पुलिस ने मामला दर्ज कर लिया है।


पढ़े:-लगातार पेट्रोल डीजल के बढ़ते दाम छू रहे है आसमान जाने अब क्या है कीमत


पुलिस ने बताया कि आरोपियों को पकड़ने के लिए जांच अभियान चलाया जा रहा है इस घटना के बारे में एसएसपी अनंत देव ने बताया कि यह घटना मुज्जफरनगर के पुखराजी थाने इलाके में हुई हमने युवक और उसके परिवार वालों की पहचान की है पुखराजी में रहने वाले चार युवकों ने इस घटना को अंजाम दिया उन्हें पकड़ने के लिए टीमें भेजी गई हैं बताया जा रहा है कि पिटाई का शिकार हुआ युवक विपिन कुमार है।


पढ़े:-जानिए कहाँ पर क्रैश हुआ ONGC का हेलिकॉप्टर


विपिन कुमार नाम इसके पहले भी सहारनपुर हिंसा के दौरान उठे विवाद में आया था उस समय विपिन ने खुद को भीम आर्मी की युवा विंग का सदस्य बताया था वह कुछ दिनों पहले ही जेल से छूटकर आया है विपिन पर आरोप है कि उसने अपने कुछ साथियों के साथ मिलकर दलितों के घर से देवी- देवताओं के पोस्टर और मूर्ति हटा दिए थे इसके बाद विपिन ने दलितों के यहां बाबा भीमराव आंबेडकर और रविदास के पोस्टर चिपकाए थे जिसके बाद हिंदू युवा वाहिनी के सदस्यों ने देवी-देवताओं का अपमान करने पर एफआईआर दर्ज कराई थी जससे विपिन और उसके साथी इस मामले में जेल भेजे गए थे।



 


 


 


- शेख मो अब्दुल्ला



सम्बंधित खबरें



खबरें स्लाइड्स में


खबरें ज़रा हट के