aapkikhabar aapkikhabar

ऑफिस में काम करने वाली लडकियों के यह हैं 5 अधिकार



ऑफिस में काम करने वाली लडकियों के यह हैं  5 अधिकार

र महिला को अपने अधिकारों के प्रति सचेत होने की जरूरी है

डेस्क-महिलाओ की सुरक्षा का हमेशा से सड़क, संसद से लेकर सोशल मीडिया पर उठता आया है. लेकिन इन सबके बावजूद महिला सुरक्षा से जुड़ी कई खबरें हर रोज आती रहती है ऐसे में हर महिला को अपने अधिकारों के प्रति सचेत होने की जरूरी है. यहां हम आपको बताने जा रहे हैं महिला सुरक्षा से जुड़ी उन 5 अधिकारों के बारे में जिन्हें वर्कप्लेस पर कामकाजी महिलाओं को जानना बेहद जरूरी है.साल 2012 में इससे जुड़ा कानून पास हुआ. महिलाओं को वर्कप्लेस पर छेड़छाड़ से बचाने के लिए ये सबसे बड़ा हथियार हैं|


चाइना ने पुरुषों के अकेलेपन को दूर करने के लिए बनाया सेक्स डॉल, इस अंदाज में करती है अपने मालिक से प्यार


इस तस्वीर को Zoom करके देखने के बादआप हो जाएंगे सोचने को मजबूर



  • इस गाइडलाइन के तहत किसी भी कंपनी या संस्था में अगर कोई महिला काम करती है और किसी भी उम्र की है तो उसे अपनी सुरक्षा का अधिकार है. ऐसे में कोई भी शख्स उससे गलत तरीके से बात या हरकत करता है, या किसी भी तरीके से उसका फायदा उठाने की कोशिश करता है तो उसे शिकायत करने का पूरा अधिकार है|

  • हर कंपनी या संस्था में जहां महिलाएं काम कर रही हैं वहां महिलाओं को सुरक्षा का माहौल मिले वो नौकरी देने वाली की जिम्मेदारी है. साथ ही साथ वहां शिकायत कमेटी का गठन करना भी जरूरी है|

  • महिला कर्मचारी के पास अधिकारी है कि अगर उसकी संस्था में 10 लोग कमा करते हैं और वहां कोई कमेटी नहीं है तो वो तुरंत इसकी शिकायत अपने अधिकारियों को करे और कमेटी बनवा सकती है|

  • महिलाओं को इस कमेटी में प्राथमिकता मिलती है, कमेटी में 50 फीसदी महिलाएं ही होनी चाहिए. इस कमेटी की प्रमुख भी महिला ही होगी |

  • शिकायत आने के बाद 90 दिनों के भीतर संस्था की आंतरिक जांच पूरी होनी चाहिए और सजा मिलना चाहिए. यहां एक बात ध्यान देने की जरूरत है कि महिला को भी 90 दिन के भीतर ही शिकायत दर्ज करा लेना चाहिए| 


- प्रेम कुमार



सम्बंधित खबरें



खबरें स्लाइड्स में


खबरें ज़रा हट के