aapkikhabar aapkikhabar

आखिर दुनिया में इतने धर्म कैसे बने



आखिर दुनिया में इतने धर्म कैसे बने

आज दुनिया में ऐसे 300 धर्म मौजूद है,

डेस्क-कुछ ऐसी खबरों के बारे बताने जा रहे है, क्या आप लोगो यह मालूम है हर पुरे भारत से में कई सारे अलग अलग धर्म है| और लोग अपने अपने धर्मो की पूजा करते है | भारत के शिवा और भी कई देश जंहा पर बहुत सारे धर्म है क्या कभी ये सोचा है, ये सारे धर्म कैसे बने है | और किस व्यकित ने ये सारे धर्म को अलग भागो में बटा है , आज इसी बारे में में आप को बताने जा रह हूँ|


मानव इतिहास का अध्ययन करने से पता चलता है कि इस धरती पर ईश्वर ने अलग अलग जगह मानव नहीं बसाए,एक ही मानव से सारा संसार फैला है। आपके अधिकांश संदेह खत्म हो जाएंगे। सारे मानव का मूलवंश एक ही पुरूष तक पहुंचता है, ईश्वर ने सर्वप्रथम विश्व के एक छोटे से कोने धरती पर मानव का एक जोड़ा उन्हीं दोनों पति-पत्नी से मनुष्य की उत्पत्ति का आरम्भ हुआ|


चहल को हीरो से जीरो बना दिया ये खिलाडी


फांसी की सजा सुनाते ही जज क्यों तोड़ देते है पेन की निब


इसके बाद मनुष्य धीरे धीरे पुरे संसार में फ़ैल गया, कुछ सालो बाद लोग धर्मो के नाम पर पशुओ बलि देने लगे, और बच्चो की बलि अनेक प्रकार की परम्पराए शुरू की गई इन प्रथा से मनुष्य को कठोर बना दिया था कुछ ऐसे भी लोग थे प्रथाओ के खिलाफ आवाज उठाई और बाद में इस कामयाब भी हुए ,इसके बाद लोग भी उन्हें याद करते है कुछ ऐसे ही मसीहा पैदा होते रहे है, और इतिहास के ऐसे ही पन्नो हजारो धर्म  बनाते रहे है | आज दुनिया में ऐसे 300 धर्म मौजूद है, व्यकित अपने अपने धर्मो की पूजा कर रह है |



- प्रेम कुमार



सम्बंधित खबरें



खबरें स्लाइड्स में


खबरें ज़रा हट के