aapkikhabar aapkikhabar

भारतीय संस्कृति के अनुसार कैसे मनाएं जन्मदिन जानिए



aapkikhabar
+3

डेस्क-आजकल प्रायः देखने में आता है की लोग आधुनिकता और पश्चिमी सभ्यता में इतने खो गए की उन्हें यह पता ही नही की क्या ग़लत है और क्या सही। पश्चिमी सभ्यता के प्रभाव में हम अपनी संस्कृति, सभ्यता एवं मनोबल को इतना अधिक गिरा चुके हैं की उन्हें उठने में न जाने कितने युग बीत जायें कहा नहीं जा सकता।


प्रायः जन्मदिन बड़े ख़ुशी से मानते है खैर मानना भी चाहिए लेकिन मोमबत्ती जलाकर उसे फूंक मार कर बुझा देते है,केक को काट कर खिलाते है , उस रात्रि में जागरण के बदले प्रायः लोग मौज-मस्ती के साथ शराब और तामसिक भोजन करते है ये कहाँ का नियम है , इसलिए भारतीय पद्दति से जन्मदिन मनाये और अपने प्रियजनों को दीर्घायु बनाये।



  • शास्त्रों में जन्मदिन मनाए जाने को वर्धापन संस्कार कहा गया है।

  • जन्म तिथि पर वर्धापन संस्कार सभी लोग संपन्न नहीं कर पाते हैं। ऐसे में हम आपको बताने जा रहे हैं,

  • कुछ आसान काम जिन्हें करके आप भी लंबी उम्र व स्वस्थ शरीर पा सकते हैं।

  • जन्मदिन के दिन सुबह जल्दी जागना चाहिए। सुबह 4 से 6 के बीच ब्रह्म मुहूर्त होता है।

  • इस समय में जागने से उम्र बढ़ती है। मन में गणेशजी का गुरुदेव का ध्यान करें व आंखें खोलें।

  • तिल के उबटन से नहाएं। प्रथम पूजनीय देवता भगवान गणेशजी का गंध,पुष्प,अक्षत, धूप, दीप से पूजन करें। लड्डू और दूर्वा समर्पित करें।

पिछली स्लाइड     अगली स्लाइड


सम्बंधित खबरें



खबरें स्लाइड्स में


खबरें ज़रा हट के