aapkikhabar aapkikhabar

2019 में फिर से मोदी सरकार बनने वाली है



2019 में फिर से मोदी सरकार बनने वाली है

अमित शाह

रायबरेली। भाजपा अध्यक्ष अमित शाह ने रायबरेली की रैली को संबोधित करते हुए कहा कि कांग्रेस ने सिर्फ परिवारवाद किया लेकिन भाजपा परिवारवाद का खात्मा कर विकासवाद को बढ़ावा देगी । शाह ने कहा कि कांग्रेस षड्यंत्र की राजनीति करती है और राहुल गांधी तय कर लें कि राजनीति में कितना नीचे गिरेंगे।


कांग्रेस पर आरोप लगाते हुए अमित शाह ने कहा कि रायबरेली के लोगों ने सालों तक कांग्रेस को जिताया है। कांग्रेस को हिंदू आतंकवाद का आरोप लगाने के लिए यहां के लोगों से माफी मांगनी चाहिए। वहीं मक्का मस्जिद ब्लास्ट केस में असीमानंद समेत सभी आरोपियों को बरी कर दिया गया, राहुल गांधी बताएं कि क्या कांग्रेस हिंदू आतंकवाद कहने पर माफी मांगेगी। भाजपा अध्यक्ष ने कहा कि राहुल गांधी देश में जहां भी जाएंगे, लोग भगवा आतंकवाद पर माफी मांगने को कहेंगे। अमित शाह ने कहा कांग्रेस भगवा आतंकवाद, हिंदू आतंकवाद कहकर हिंदू संस्कृति को बदनाम कर रही थी लेकिन अदालत के फैसलों ने सच उजागर कर दिया।


भाजपा अध्यक्ष अमित शाह ने कहा कि जब कांग्रेस कि सरकार थी तो असीमानंद पर धमाके का आरोप लगा था, लेकिन अब कोर्ट ने उनको बरी कर दिया। आज मैं राहुल जी को बोलना चाहता हूं कि उन्होंने और उनके नेताओं ने 'भगवा आतंकवाद' का नाम देकर देश के हिंदुओं को सिर्फ बदनाम करने का जो काम किया था उसके लिए देश से माफी मांगनी चाहिए। मैं आपको विश्वास दिलाना चाहता हूं कि रायबरेली को हम एक आदर्श क्षेत्र बनाएंगे। हम ही रायबरेली को विकास के रास्ते ले जाएंगे, आज रायबरेली में संकल्प परिवर्तन है।


उन्होंने कहा कि यह तो तय है कि 2019 में एक बार फिर से देश में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की ही सरकार बनेगी। उत्तर प्रदेश को एक वर्ष में बदलने की दिशा में यहां की योगी आदित्यनाथ सरकार ने जो काम किया है वह बेमिसाल है। केंद्र की नरेंद्र मोदी सरकार ने जो काम किया है उसका तो देश का बच्चा-बच्चा गवाह बन गया है। उन्होंने कहा कि मैं आपको विश्वास दिलाता हूं कि पांच वर्ष में हम उत्तर प्रदेश को देश का नंबर वन राज्य बना देंगे। यह तो केंद्र तथा उत्तर प्रदेश सरकार के काम से स्पष्ट है कि 2019 में देश में एक बार फिर से नरेंद्र मोदी की सरकार बनने वाली है।


उन्होंने कहा कि आज इस देश का किसान-दलित समेत हर वर्ग भारतीय जनता पार्टी के साथ जुड़ा हुआ है। प्रदेश की योगी आदित्यनाथ सरकार ने सवा लाख किमी सड़क गड्ढामुक्त की। अब तो यहां के युवाओं को रोजगार के रास्ते खुलेंगे। योगी आदित्यनाथ ने यहां पर विकासकार्यों को गति दी, किसानों को फसल का धाम मिला। देश की जनता ने मोदी पर विश्वास किया। उन्होंने उत्तर प्रदेश के विकास के लिए पैसा दिया। आज पूरे उत्तर प्रदेश में कानून व्यवस्था को ठीक करने का काम योगी आदित्यनाथ की ही सरकार ने किया है। इससे पहले उत्तर प्रदेश गुंडागर्दी और खराब कानून व्यवस्था के लिए जाना जाता था लेकिन जैसे ही योगी आदित्यनाथ सरकार बनी गुंडे पलायन होना शुरू हो गए।


रायबरेली ने आजादी के बाद से परिवारवाद देखा है विकास नहीं


भाजपा अध्यक्ष अमित शाह ने जनसभा को संबोधित करते हुए कहा कि रायबरेली की जनता ने आजादी के बाद से परिवारवाद देखा है, लेकिन विकास नहीं। हम इस इलाके को परिवारवाद से मुक्ति दिलाने का काम करेंगे। अमित शाह ने दावा किया कि भाजपा इस इलाके को विकास देगी। रायबरेली को हम आदर्श निर्वाचन क्षेत्र बनाने की कोशिश करेंगे। रायबरेली में कांग्रेस ने विकास के नाम पर धूल झोंका। रायबरेली को परिवारवाद से मुक्त किया जायेगा। शाह ने कहा कि हमारी सरकार बनने के बाद यूपी के किसानों को अपनी फसल के सही दाम मिल रहे है। एक साल के अंदर योगी सरकार ने सड़कों को गड्ढा मुक्त बनाने का काम किया है। उन्होंने कहा कि भाजपा सरकार ने महिलाओं को गैस कनेक्शन और गरीबों को शौचालय दिए हैं। पीएम मोदी की सरकार में लाखों लोगों को मेडिकल इंश्योरेंस देने का प्रावधान किया गया।


योगी आदित्यनाथ सरकार की तारीफ करते हुए अमित शाह ने कहा कि यूपी में अब कानून का राज कायम है। योगी आदित्यनाथ सरकार यूपी को देश का नंबर एक राज्य बनाएगी। शाह ने कहा आज देश में 20 सरकारें नरेंद्र मोदी जी के नेतृत्व में चल रही हैं। योगी आदित्यनाथ और नरेंद्र मोदी ने यूपी की दिशा और दशा बदल दी है। सीएम योगी आदित्यनाथ ने कहा कि नेहरु परिवार की चार पीढ़ियों ने रायबरेली का कोई विकास नहीं किया। योगी ने कहा कि लोया केस में सुप्रीम कोर्ट के फैसले से अमित शाह के खिलाफ कांग्रेस की साजिश बेनकाब हो गई है। उन्होंने कहा कि बीजेपी के आने के बाद गरीबों का विकास हुआ है। योगी आदित्यनाथ ने कहा कि 2019 में पीएम मोदी के नेतृत्व में सरकार बनेगी। इससे पहले मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि भाजपा विश्व की सबसे बड़ी पार्टी है। भारतीय जनता पार्टी किसी भी परिवार या जाति की पार्टी नहीं है। इस पार्टी ने हमारे जैसे कार्यकर्ता को सीएम का पद दिया है। भाजपा के सत्ता में आने के बाद देश में गरीबों का विकास हुआ है।


इससे पहले भाजपा प्रदेश अध्यक्ष डॉ. महेंद्र नाथ पाण्डेय ने भाजपा अध्यक्ष अमित शाह व सीएम योगी आदित्यनाथ की मौजूदगी में कांग्रेस में विधान परिषद के नेता दिनेश प्रताप सिंह तथा उनके भाई जिला पंचायत अध्यक्ष अवधेश सिंह को पार्टी में शामिल करने की घोषणा की। उप मुख्यमंत्री डॉ. दिनेश शर्मा ने भाजपा अध्यक्ष तथा मुख्यमंत्री का स्वागत किया। अमित शाह तथा योगी आदित्यनाथ के साथ आधा दर्जन मंत्री भी आए। इससे पहले लखनऊ के चौधरी चरण सिंह इंटरनेशनल एयरपोर्ट पर सीएम योगी आदित्यनाथ के साथ ही भाजपा के अन्य पदाधिकारियों ने अमित शाह का स्वागत किया।


कांग्रेस MLC दिनेश प्रताप व उनके भाई रायबरेली जिला पंचायत अध्यक्ष भाजपा में शामिल


भाजपा प्रदेश अध्यक्ष डॉ. महेंद्र नाथ पाण्डेय ने भाजपा अध्यक्ष अमित शाह व सीएम योगी आदित्यनाथ की मौजूदगी में कांग्रेस में विधान परिषद के नेता दिनेश प्रताप सिंह तथा उनके भाई जिला पंचायत अध्यक्ष अवधेश सिंह को पार्टी में शामिल करने की घोषणा की।


सूबे के उप मुख्यमंत्री डॉ दिनेश शर्मा ने बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह का जोरदार स्वागत किया ही था कि इसके बाद जीआइसी मैदान में मंच के पास ही पत्रकार दीर्घा में शॉर्ट सर्किट से आग लग गई। आग इतनी खतरनाक थी कि वहां पर भगदड़ मच गई। मंच के पास शॉर्ट सर्किट से भगदड़ में कोई हताहत नहीं हुआ। जनसभा में जब महेंद्र नाथ पांडेय का संबोधन हो रहा था, उसी दौरान पत्रकार दीर्घा के टेंट के एक पिलर के पास शार्ट सर्किट हो गया। तेज लपटें उठने लगी। लोग भागने लगे। इसी बीच भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष महेंद्र नाथ पांडेय ने भी अपना संबोधन बंद कर दिया। पुलिस अधीक्षक समेत प्रशासनिक अमला आग की तरफ दौड़ा, लेकिन कुछ लोगों ने शोर मचाया कि किनारे- किनारे लगाए गई लोहे की रैलिंग में करंट उतर आया है। ऐसे में सारे लोग उस दीर्घा से ही भागने लगे। करीब दस मिनट बाद हालात काबू में आए।


आग काबू में आने के बाद महेंद्र नाथ पांडेय ने संबोधन शुरू किया, मगर शार्ट सर्किट वाले माइक व पंखा सब बंद हो गए। भारी अव्यवस्था के बीच प्रदेश अध्यक्ष ने अपना संबोधन खत्म कर दिया।मंच पर भाजपा अध्यक्ष अमित शाह तथा सीएम योगी आदित्यनाथ के साथ उनकी कैबिनेट के आधा दर्जन मंत्री भी थे। इतना ही नहीं नेताओं का भाषण भी रोक दिया गया।


इसके बाद मुख्यमंत्री योगी आदित्य नाथ संबोधन के लिए आए। अपनी बात कह ही रहे थे। तभी सामने की जनता दीर्घा से उर्दू और विशिष्ट बीटीसी के अभ्यर्थियों ने हंगामा करना शुरू किया। पोस्टर और बैनर लहराए। एक बार फिर जोरदार हंगामा शुरू हुआ। पुलिस अधिकारी वहां दौड़कर पहुंचे। उन्होंने बैनर पोस्टर छीन लिया।


उत्तर प्रदेश में कांग्रेस के बड़े गढ़ रायबरेली को लेकर भारतीय जनता पार्टी बेहद गंभीर है। भाजपा की गंभीरता का अनुमान इसी बात से लगता है कि कर्नाटक विधानसभा चुनाव प्रचार के बीच भी अध्यक्ष अमित शाह ने आज कांग्रेस के गढ़ रायबरेली में सभा करने का फैसला लिया। फिरोज गांधी, इंदिरा गांधी, राजीव गांधी के बाद सोनिया गांधी ने रायबरेली में कांग्रेस का परचम फहराया है। कांग्रेस के इस गढ़ को भारतीय जनता पार्टी से चुनौती मिलने जा रही है।


कांग्रेस से भारत मुक्त कराने का बीड़ा उठाने वाले भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह और प्रदेश के मुखिया योगी आदित्य नाथ यहीं जीआइसी मंच से 2019 लोकसभा चुनाव की रणभेरी भी बजाएंगे। यूं तो रायबरेली और कांग्रेस एक दूसरे के हमनाम रहे हैं। हालात कैसे भी रहे हों, शहर तो हमेशा कांग्रेस के साथ रहा। कभी उनके नुमाइंदे जीते तो कभी उन्हीं के लोग बगावत करके जीते। उस दौर में जिले में कांग्रेस के दो दिग्गजों का गांधी परिवार से सीधा संबंध रहा। उसमें से एक परिवार से सदर विधायक अदिति सिंह विधायक हैं। अदिति तो राहुल गांधी की युवा टीम में भी सक्रिय हैं।


इसके इतर यहां के पंचवटी परिवार के राजनीतिक अगुवा एमएलसी दिनेश सिंह ने एक नई राह चुन ली। उन्होंने भाजपा के केंद्रीय नेतृत्व से मिलकर भगवा दल में अपना नया ठिकाना खोज लिए। भाजपा के लिए यह बिन मांगी मुराद वाला मौका बना। सब कुछ तय हुआ और केंद्रीय नेतृत्व ने उन्हें पार्टी में लेने की हामी भर दी। दिनेश सिंह को सोनिया गांधी का करीबी माना जाता था। दिनेश सिंह ने कांग्रेस से इस्तीफा देने के बाद कहा था कि अमेठी और रायबरेली में कांग्रेस नहीं है। यहां सिर्फ गांधी परिवार हैं। गांधी परिवार के लिए ही लोग काम करते थे। गांधी परिवार किसी को भी आगे नहीं बढ़ने दे रही है। हमारा सम्मान नहीं था कांग्रेस में इसलिए कांग्रेस छोड़ दिया है। उन्होंने कहा कि अगर सोनिया के अलावा कोई भी कांग्रेस का नेता रायबरेली से खड़ा हो जाए तो केवल 50 हजार वोट मिलेंगे। उन्होंने कहा कि मैं पूरे परिवार के साथ भाजपा ज्वाइन कर रहा हूं।


-



सम्बंधित खबरें



खबरें स्लाइड्स में


खबरें ज़रा हट के