aapkikhabar aapkikhabar

PNB को 13 हजार 417 करोड़ रुपए का घाटा



PNB को 13 हजार 417 करोड़ रुपए का घाटा

PNB को 13 हजार 417 करोड़ रुपए का घाटा

डेस्क - PNB को 13 हजार 417 करोड़ रुपए का घाटा हुआ है | देश के दुसरे सबसे बड़े सरकारी बैंक पंजाब नेशनल बैंक ने मंगलवार को वित्तवर्ष 2017-2018 की आखिरी तिमाही नतीजे पेश किये ,जिसमे उसे 13 हजार 417 करोड़ रुपए का घाटा है | जबकि वित्त वर्ष 2017 की चौथी तिमाही में पीएनबी को 261.9 करोड़ रुपए का मुनाफा हुआ था। हीरा कारोबारी नीरव मोदी और बैंक अधिकारियों की मिलीभुगत के कारण पंजाब नेशनल बैंक के मुनाफे को बड़ा झटका लगा है|
 


NET एनपीए में बढ़ौतरी



  • वित्त वर्ष 2018 की चौथी तिमाही में पीएनबी की ब्याज आय 16.8 फीसदी घटकर 3,063.4 करोड़ रुपए रही है।

  • वित्त वर्ष 2017 की चौथी तिमाही में पीएनबी की ब्याज आय 3,683.5 करोड़ रुपए रही थी।

  • तिमाही आधार पर जनवरी-मार्च तिमाही में पीएनबी का नेट एनपीए 7.55 फीसदी से बढ़कर 11.24 फीसदी रहा है।

  • तिमाही दर तिमाही आधार पर चौथी तिमाही में पीएनबी का ग्रॉस एनपीए 12.11 फीसदी से बढ़कर 18.38 फीसदी रहा है।

  • तिमाही आधार पर चौथी तिमाही में पीएनबी की प्रॉविजनिंग 4,467 करोड़ रुपए से बढ़कर 20,353 करोड़ रुपए रही है।

  • वित्त वर्ष 2017 की चौथी तिमाही में पीएनबी की प्रॉविजनिंग 5,753 करोड़ रुपए रही थी।



इलाहाबाद बैंक ने CEO उषा से छीने गये  सभी अधिकार 


इलाहाबाद बैंक के निदेशक मंडल ने मंगलवार को एमडी उषा से उनके सभी अधिकार और शक्तिया वापस ले ली है |


PNB धोखाधडी मामले के आरोप पत्र में उषा का नाम सामने से वित्त मंत्रालय के निर्देश पर यह कदम उठाया गया है |


क्यों बड़ा घाटा



  • सकल एनपी  57,519  से बढकर  86,620करोड़ रुपया हुआ

  • ख़राब कर्ज की भरपाई के लिए 20 हजार 353 करोड़ रुपया रखे



PNB  का नुकसान



  • 262 करोड़ रूपये के लाभ में था एक वर्ष पहले

  • 06% गिरा शेयर PNB के नतीजे के बाद 


-



सम्बंधित खबरें



खबरें स्लाइड्स में


खबरें ज़रा हट के


Latest news with Aapkikhabar

"आज के ताज़े समाचार' के साथ आपकी ख़बर

भारत के सबसे लोकप्रिय समाचार के स्रोत में आपका स्वागत है ताजा समाचार और रोज के ताजा घटनाक्रम के लिए दैनिक समाचार को पढने के लिए हमारी वेबसाइट सही और प्रमाणिक समाचारों को खोजने के लिए सबसे अच्छी जगह है। हम अपने पाठकों को पूरे देश और उसके मुख्य क्षेत्रों में नवीनतम समाचारों के साथ प्रदान करते हैं। हमारा मुख्य लक्ष्य खबरों को एक उद्देश्य के साथ मूल्यांकन भी देना है और इस तरह के क्षेत्रों में राजनीति, अर्थव्यवस्था, अपराध, व्यवसाय, स्वास्थ्य, खेल, धर्म और संस्कृति के रूप में क्या हो रहा है, इस पर भी प्रकाश डालना है। हम सूचना की खोज करते हैं और सबसे महत्वपूर्ण ग्लोबल घटनाओं से संबंधित सामग्री को तुरंत प्रकाशित करते हैं।.

Trusted Source for News

ब्रेकिंग न्यूज़ के लिए सबसे विश्वसनीय स्रोत है आपकी खबर

आपकी खबर उन लोगों के लिए एक बेहतरीन माध्यम है जिनके कई मुद्दों पर अपनी अलग राय है हम अपने पाठकों को भी एक माध्यम उपलब्ध कराते हैं जो ख़बरों का विश्लेषण कर सकें निर्भीक रूप से पत्रकारिता कर सकें | आपकी खबर का प्रयास रहता है की ख़बरों के तह तक जाएँ पुरी सच्चाई पता करें और रीडर को वह सब कुछ जानकारी दें जो अमूमन उन्हें नहीं मिल पाती है | यह प्रयास मात्र इस लिए है कि रीडर भी अपनी राय को पूरी जानकारी से व्यक्त कर सके |
खबर पढने वाले पाठकों की सुविधा के लिए हमने आपकी खबर में विभिन्न कैटेगरी में बात है जैसे कि विशेष , बड़ी खबर ,फोटो न्यूज़ , ख़बरें मनोरंजन,लाइफस्टाइल, क्राइम ,तकनीकी , स्थानीय ख़बरें , देश की ख़बरें उत्तर प्रदेश , दिल्ली , महाराष्ट्र ,हरियाणा ,राजस्थान , बिहार ,झारखण्ड इत्यादि |

Develop a Habit of Reading

अब अखबार नहीं डिजिटल अखबार पढ़िए “आप की खबर” के साथ

आपकी खबर सामाचार ताजा सामाचारों का एक डिजिटल माध्यम है जो जनता को सच्चाई देने में समाचारों का एक विश्वसनीय स्रोत बनने का प्रयास है। हमारे दर्शकों के पास समाचार पर टिप्पणी करने और अन्य पाठकों के साथ अपनी स्वतंत्र राय साझा करने का अंतिम अधिकार है। हमारी वेबसाइट ब्राउज़ करें और आप की खबर (आज की ताजा खबर) की जाँच करें, साथ ही आपको मिलेगा आपकी खबर के एक्सपर्ट्स की टीम खबरों की तह तक जाने का प्रयास करती है और कोशिस करती है कि सही विश्लेषण के साथ खबर को परोसा जाए जिसमे वीडियो और चित्र की भी प्रमंकिता हो । इसके लिए हमारे न्यूज़लेटर की सदस्यता लें और भारत में कुछ भी नया घटनाक्रम को घटित होने पर अपने को रखें अपडेट |