aapkikhabar aapkikhabar

...तो क्या कप्तान धौनी की चेन्नई ही जीत रही है IPL 2018



...तो क्या कप्तान धौनी की चेन्नई ही जीत रही है IPL 2018

चेन्नई

नई दिल्ली । IPL 2018  में मंगलवार को खेले गए पहले क्वालिफायर मुकाबले में महेंद्र सिंह धौनी की चेन्नई सुपर किंग्स ने हैदराबाद को दो विकेट से मात दी। इस जीत के साथ ही धौनी की चेन्नई एक बार फिर से आइपीएल के फाइनल में पहुंच गई है। दो बार की आइपीएल विजेता चेन्नई की टीम तीसरी बार भी आइपीएल का खिताब जीत सकती है। धौनी के धुरंधरों को इस खिताब का प्रबल दावेदार माना जा रहा है और इसके पीछे उनका प्रदर्शन तो है ही, इसके साथ ही साथ उनके कप्तान और उनके लकी नंबर का भी कनेक्शन हैं।


धौनी जीतेंगे IPL 2018?
महेंद्र सिंह धौनी की टीम आइपीएल के फाइनल में पहुंची चुकी है और एक कनेक्शन है जो इस ओर इशारा कर रहा है कि इस बार ये ट्रॉफी चेन्नई की टीम ही जीतेगी। इससे पहले चेन्नई सुपर किंग्स दो बार इस खिताब पर कब्ज़ा जमा चुकी है। चेन्नई ने 2010 और 2011 लगातार दो सीजन में इस खिताब को अपने नाम किया था। चेन्नई की टीम चार बार इस टूर्नामेंट की रनर अप भी रही है। 2008, 2012, 2013 और 2015 में धौनी के धुरंधर आइपीएल के फाइनल में तो पहुंचे, लेकिन वो इस खिताब को अपने नाम नहीं कर सके। ये सातवां मौका है जब चेन्नई की टीम आइपीएल का फाइनल खेलेगी और इस टीम के कप्तान धौनी का लकी नंबर भी सात ही है। सात के इस लकी नंबर की वजह से ही उन्हें सात का सिकंदर कहा जाता है।


 '7' से धौनी का है पुराना नाता
इस नंबर से धौनी का नाता जन्म से है, तभी तो उनके जन्मदिन की तारीख में भी दो-दो सात आते हैं। धौनी का जन्म 7 जुलाई 1981 को हुआ था। एक तो सात तारीख दूसरा जुलाई साल का सातवां महीना। इतना ही नहीं धौनी अपने लकी सात नंबर की ही जर्सी पहनकर मैदान पर उतरते हैं।


7 ने ही बनाया धौनी को सिकंदर
अनहोनी को होनी बनाने वाले कप्तान धौनी को टीम इंडिया की कप्तानी 2007 में मिली थी। द. अफ्रीका में होने वाले पहले टी20 विश्व कप में धौनी को टीम इंडिया की कमान सौंपी गई। पहले ही टूर्नामेंट में कप्तानी करते हुए धौनी ने अपनी चतुराई, चालाकी और अनोखे फैसलों के दम पर भारत को टी20 विश्व कप का पहला चैंपियन बना दिया। खिताबी जंग के फाइनल मैच में जब पाकिस्तान की खिलाफ आखिरी ओवर फेंकने की बारी आई तो जोगिंदर शर्मा को धौनी ने गेंदबाज़ी का ज़िम्मा सौंपते हुए एक अनोखा फैसला लिया और मिस्बाह उल हक के आउट होते ही भारत टी20 का बादशाह बन गया।


पाकिस्तान को भी दिखाया सात का दम
पाकिस्तान के खिलाफ खेलते हुए धौनी ने वन-डे क्रिकेट में सात हजार रन पूरे किए थे। संयोग देखिए वह ऐसा करने वाले टीम इंडिया के सातवें ही खिलाड़ी थे। इस मैच में धौनी ने सातवें ही विकेट के लिए शतकीय साझेदारी भी की थी।


-



सम्बंधित खबरें



खबरें स्लाइड्स में


खबरें ज़रा हट के