aapkikhabar aapkikhabar

क्या आप जानते है death क्या होती? मृत्यु क्यों आती है?



 क्या आप जानते है death  क्या होती?  मृत्यु क्यों आती है?

मृत्यु का जीवन

आपको पता है DEATH क्या होती है क्यों हमे एक दिन मरना होता है |


डेस्क -क्या आप जानते है death  क्या होती |मानव जीवन कि अगर बात करें, तो यह पंचतत्वों से बना है। death  के बाद यह वही पंचतत्वों में मिल जाता है।


प्राकृति का यह नियम है कि इस धरती पर जो भी आया है, उसका जाना तय है। लेकिन अब तक हममें से बहुत से लोग इस मृत्यु से अनजान है। हममें से बहुत से लोग यह नहीं जानते है मृत्यु होती क्या है? यह क्यों आती है? क्यों कोई मरता है? भी कई सवाल हैं|


जो  death  से जुड़े हुए है। अगर आपके मन में भी  death को लेकर कुछ सवाल है, तो यहां पर आज हम इसी मृत्यु के बारे में आपसे चर्चा करने वाले हैं। जिसे जानकर आपके मन मस्तिष्क में पैदा होने वाले इन सवालों के सारे जवाब आपको मिल जाएंगे।


 मृत्यु  क्या होती 



  • इस पूरे ब्रह्माण्ड में यदि कुछ हैं सच और  निश्चित हैं तो वह  death होती हैं|

  • जब कोई व्यक्ति मरता है तो वहां कुछ चीजें ऐसी होती हैं|

  • जो अपने आप में बहुत गहरी होती है|

  • आप अगर वहां बैठकर ध्यान करते हैं तो आपको बहुत कुछ पता चल सकता है|

  • अगर मृत्यु वहां उपस्थित है और आप वहां खामोशी से बैठें हैं तो आप उसे जरूर महसूस कर पाएंगे

  • क्योंकि मौत साँसे रोकता हुआ कोई व्यक्ति नहीं होता है|

  • जब भी कोई व्यक्ति मरता है तो कुछ समय बाद से ही उसकी आभा कम होनी शुरू हो जाती है|

  • यदि आप उस वक़्त वहां खामोशी से हैं तो आप ऊर्जा शक्ति और ऊर्जा क्षेत्र को कम होकर केंद्र की ओर वापस जाते महसूस कर सकते हैं| 


 मृत्यु  उस पेड़ के एक फूल की भांति होती हैं


जीवन, एक पेड़ की तरह होता हैं और मृत्यु उस पेड़ के एक फूल की भांति होती हैं| पेड़ का अस्तित्व फूल के लिए तथा फूल से ही होता है ना कि फूल का अस्तित्व पेड़ के लिए| पेड़ पर जब तक फूल नहीं आते हैं उसे केवल पेड़ ही कहा जाता हैं पर जब उस पर फूल आते हैं तो वो पेड़ गरिमायुक्त नज़र आने लगता हैं| उस समय उस पेड़ को खुशी से नाचना चाहिए क्योंकि फूल के आने के बाद उसके मुरझाने का वक़्त भी निर्धारित ही रहता हैं|


 प्राकृति का यह नियम है कि इस धरती पर जो भी आया है, उसका जाना तय है। लेकिन अब तक हममें से बहुत से लोग इस मृत्यु से अनजान है। हममें से बहुत से लोग यह नहीं जानते है मृत्यु होती क्या है? यह क्यों आती है? क्यों कोई मरता है? 


मानव मरता क्यों है- 



  • वह इसलिए मरता है, क्योंकि उसकी जिजीविषा मर गई है|

  • उसकी कामनाएं नष्ट हो गई हैं। उसके हृदय से राग समाप्त हो गया है।

  • उसके जीवन का सारा आकर्षण केंद्र नष्ट हो चुका है, उसके सारे सुनहरे सपने स्वप्न खत्म हो चुके हैं।

  • अब उसके मन में कोई कामना नहीं बची है। धीरे-धीरे वह मरुभूमि बनता जाता है एक दिन उसका संबंध

  • प्रकृति से टूट जाता है। यही मृत्यु है।

  • इसलिए जीवन में राग आकर्षण आवश्यक है।

  • आपके जीवन में कोई न कोई ऐसा आकर्षण का केंद्र हो, जो आपको निरंतर गतिमान रखे।

  • जिस दिन आपके जीवन के सारे आशा केंद्र नष्ट हो जाएंगे, आप जी नहीं सकेंगे।

  • इसीलिए प्रकृति से निरंतर संबंध बनाए रखना आवश्यक है।

  • यह बात तो स्पष्ट है कि हमारे जीवन का सूत्र प्रकृति के हाथ में है।

  • प्रकृति से अनवरत जीवन ऊर्जा प्रवाहित


 


 


 


 



- Sneh lata kaushal



सम्बंधित खबरें



खबरें स्लाइड्स में


खबरें ज़रा हट के