aapkikhabar aapkikhabar

गांव के लोगों से बदला लेने के लिए एक बाप ने अपने बेटे के साथ ही कर दी घिनौनी हरकत



गांव के लोगों से बदला लेने के लिए एक बाप ने अपने बेटे के साथ ही कर दी घिनौनी हरकत

पुलिस की गिरफ्त में आरोपी


  • पिता ही निकला अपने मासूम बेटे का कातिल

  • गांव के कुछ लोगों से बदला लेने के लिए अपनी औलाद को उतारा मौत के घाट


बाराबंकी -उत्तर प्रदेश के बाराबंकी जिले में बीते दिनों एक मासूम का शव उसके घर के पास ही संदिग्ध अवस्था में मिलने से सनसनी फैल गई थी। पुलिस ने इस नृसंश हत्याकांड का खुलासा करते हुए जो खुलासा किया है उसे सुनकर आप चौंक जाएंगे। क्योंकि इस मासूम का हत्यारा कोई और नहीं बल्कि उसका अपना सगा बाप ही है।


 मामला बाराबंकी के बड्डूपुर थाना क्षेत्र के परवल भारी गांव का है। जहां बीते दिनों 10 साल के एक मासूम की बेरहमी से हत्या करने का मामला सामने आया था। मासूम का शव उसके घर से कुछ ही दूरी पर संदिग्ध अवस्था में मिला था। मृतक मासूम के शरीर पर चोट के कई निशान भी मिले थे, जिसके बाद पुलिस ने मौके पर पहुंचकर शव का पोस्टमार्टम कराया और वारदात की तफ्तीश में जुट गई।


लड़के के पिता ने गांव के ही 4 लोगों के खिलाफ अपनी तहरीर देकर मामले को नाटकीय ढंग से मोड़ना चाहा। लेकिन पुलिस ने अपने पूरे विवेक से इस मामले की जांच की और बेगुनाहों को सलाखों के पीछे जाने से बचा लिया। क्योंकि पुलिस की तफ्तीश में जब इस मामले की परतें खुलना शुरू हुई उसमें जो बात सामने निकल कर आई उसके भी होश में आने के लिए काफी थी। दरअसल इस बच्चे के की हत्या किसी और ने नहीं बल्कि गांव के कुछ लोगों से आपसी रंजिश का बदला लेने के लिए उसके पिता ने ही की थी।


 वारदात का खुलासा करते हुए बाराबंकी के पुलिस अधीक्षक वीपी श्रीवास्तव ने बताया कि बड्डूपुर थाना क्षेत्र में बीती 25 तारिख को एक 10 साल के बच्चे की चाकू से गला काटकर नृशंश हत्या हुई थी। इस वारदात के खुलासे के लिए पुलिस अपनी तफ्तीश में जुटी थी।


मृतक बच्चे के पिता भोला ने गांव के ही 4 लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराया था। लेकिन पुलिस ने अपनी जांच में पाया कि यह चारों लोग इस वारदात में शामिल नहीं हैं। पुलिस ने जब गहनता से मामले की जांच की तो मृतक के पिता की गांव में आपसी रंजिश की बात निकलकर सामने आई।


तहसील गांव के कुछ लोगों ने मृतक के पिता भोला के खिलाफ रेप का मामला दर्ज कराया था, जिसमें वह जेल भी जा चुका था। भोला नहीं इसी बात का बदला लेने के लिए अपने कुछ साथियों के साथ मिलकर अपने ही बेटे का कत्ल कर दिया और इल्जाम गांव में प्रधान समेत चार लोगों पर मढ़ दिया। पुलिस ने इस मामले में सफलता हासिल करते हुए बेगुनाहों को जेल जाने से बचाया है उसके साथ ही असली मुलजिमों को सलाखों के पीछे पहुंचाया।


 


-



सम्बंधित खबरें



खबरें स्लाइड्स में


खबरें ज़रा हट के